Third Wave: अगस्त के बीच में बढ़ने लगेंगे कोरोना के मामले; रिपोर्ट में दावा- हर दिन लाख से डेढ़ लाख केस होंगे दर्ज, जानें- कब आएगी पीक

हैदराबाद और कानपुर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) में मथुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के एक समूह द्वारा किए गए एक अध्ययन में कोरोना की तीसरी लहर पर भविष्यवाणी की गई है। हर रोज कितने मामले आएंगे और पीक पर होगी इसपर भी बताया गया।

Nitin AroraMon, 02 Aug 2021 01:18 PM (IST)
Covid-19: तीसरी लहर को लेकर गंभीर दावें; हर रोज लाख से डेढ़ लाख केस होंगे दर्ज, जानें- कब आएगी पीक

नई दिल्ली, एएनआइ। भारत में अभी दूसरी लहर से ही नहीं निपटा जा सका है कि तीसरी लहर दरवाजे पर खड़ी है। विशेषज्ञों ने जल्द तीसरी लहर के आने की बात कही है। कहा गया है कि भारत में अगस्त के मध्य में COVID-19 मामलों में वृद्धि दिखनी शुरू हो जाएगी और इसी के साथ तीसरी लहर की भी शुरुआत हो जाएगी। रिपोर्ट में दावा है कि इस दौरान हर दिन मामले बढ़ेंगे। आशंका जताई गई है कि हर दिन 1,00,000 से लगभग 1,50,000 संक्रमण के मामले दर्ज हो सकते हैं।

हैदराबाद और कानपुर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) में मथुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के एक समूह द्वारा किए गए एक अध्ययन ने भविष्यवाणी की है कि भारत में अगस्त में COVID-19 मामलों में एक बार फिर वृद्धि देखे जाने की संभावना है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि यह दूसरी लहर के रूप में कम खतरनाक हो सकती है। बता दें कि दूसरी लहर कहर बनके आइ थी, उस दौरान एक दिन में 4 लाख से ऊपर मामले दर्ज हो रहे थे।

तीसरी लहर कब पीक पर होगी?

वहीं, ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में दावा किया गया कि गणित के अनुसार, क्रमशः भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) हैदराबाद और कानपुर में मथुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने कहा है कि COVID-19 मामलों में अगस्त में मामले बढ़ने की शुरुआत होगी और तीसरी लहर अक्टूबर में चरम पर होगी। इसके अलावा विद्यासागर द्वारा कहा गया है कि केरल और महाराष्ट्र जैसे उच्च कोविड -19 संक्रमण वाले राज्य 'तस्वीर को बदल' भी सकते हैं।

इससे पहले, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) में महामारी विज्ञान और संक्रामक रोगों के प्रमुख डॉ समीरन पांडा ने एएनआई से बात करते हुए कहा कि अगर COVID-19 की तीसरी लहर आती है, तो यह अगस्त के अंत के आसपास किसी समय आएगी। डॉ पांडा ने कहा, 'तीसरी लहर आ सकती है क्योंकि यह दूसरी लहर की तुलना में अपरिहार्य नहीं है। अगर तीसरी लहर होती है, तो यह अगस्त के अंत में किसी समय आएगी, यह अपरिहार्य नहीं है।'

डॉ पांडा ने यह भी कहा, 'तीसरी लहर कब आएगी और कितनी गंभीर हो सकती है, ये सभी सवाल कई कारकों से जुड़े हैं जो पूरी तरह से समझ से परे हैं।'

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार सोमवार को भारत में पिछले 24 घंटों में सीओवीआईडी ​​-19 के 40,134 नए मामले और 422 मौतों को दर्ज किया गया। वर्तमान में कुल मामलों की संख्या 3,16,95,958 है। मरने वालों की संख्या 4,24,773 हो गई है। देश में COVID-19 के सक्रिय मामलों की संख्या 4,13,718 है।

पिछले 24 घंटों में कुल 36,946 मरीज ठीक हुए और 3,08,57,467 लोग महामारी की शुरुआत के बाद से COVID-19 से उबर चुके हैं। यह 97.35 फीसद की दर से है।

लगातार छत्तीस दिनों से रोजाना 50,000 से कम नए मामले सामने आए हैं। यह केंद्र, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के निरंतर और सहयोगात्मक प्रयासों का परिणाम है। बता दें कि केंद्र ने वर्तमान में केरल, महाराष्ट्र और पूर्वोत्तर क्षेत्रों सहित 10 राज्यों को वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए कदम उठाने का निर्देश दिया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.