आतंकियों ने भेजा पाकिस्तान को संदेश, खत्म हो रहा गोला-बारूद; जल्दी भेजो

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कश्मीर में जैसे जैसे सामान्य स्थिति बहाल होती जा रही है वैसे वैसे पाकिस्तान की हताशा भी बढ़ती जा रही है। अब जबकि पाकिस्तान सरकार को यह एहसास हो चुका है कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर का रोना रोने से भी कुछ हासिल नहीं होने वाला। साथ ही भारत ने कश्मीर के भीतर जिस तरह से सुरक्षा इतंजाम किये हैं उसकी वजह से भी यहां के आतंकियों और सीमा पार रहने वाले उनके आकाओं के बीच संपर्क पूरी तरह से टूटा हुआ है। अलावा आतंकियों के पास मौजूद गोला-बारूदों की कमी हो गई है।

बैखलाए पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर अकारण जबरदस्त गोलीबारी शुरु कर दी है ताकि आतंकवादियों की घुसपैठ कराई जा सके। भारतीय खुफिया एजेंसियों का मानना है कि अगले दो हफ्ते उन्हें और ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी। नियंत्रण रेखा के करीब भारी बर्फबारी शुरु होने से पहले पाकिस्तान की तरफ से गोलीबारी करके घुसपैठ कराने की और कोशिश हो सकती है।

आतंकियों के पास हथियारों व गोला-बारुदों की कमी

भारतीय खुफिया एजेंसियों को इस बात की सूचना मिली है कि कश्मीर में बचे खुचे आतंकियों ने सीमा पार अपने आकाओं को यह सूचना भेजी है कि उनके पास हथियारों व गोला-बारुदों की कमी है और इसकी आपूर्ति तत्काल होनी चाहिए। ऐसे में पाकिस्तान किसी भी सूरत में आतंकियों के गिरोहों को भारत में प्रवेश कराने के चक्कर में है। भारत पाक के बीच स्थिति नियंत्रण रेखा पर बर्फबारी की अभी शुरुआत है जो दो हफ्तों में तेज हो सकती है। आम तौर पर सितंबर और अक्टूबर के महीने में पाकिस्तान की तरफ से इस तरह की गोलीबारी कराने के पीछे एक बड़ा मकसद यह होता है कि सर्दियों की शुरुआत से पहले आतंकियों के गिरोह को भारतीय सीमा में भेज दिया जाए।

नए रास्ते से आतंकी भेजने की कोशिश में पाकिस्तान

घुसपैठ कराने की पाकिस्तान की नई साजिश का खुलासा आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने करते हुए संवाददाताओं को बताया कि, 'कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद अब शांति स्थापित होने लगी है। सेब का कारोबार हो रहा है, स्कूल खुल रहे हैं। लेकिन पाकिस्तान वहां शांति का माहौल नहीं बनने दिया जा रहा है ताकि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को दिखाया जा सके कि धारा 370 समाप्त करने से वहां समस्या है। हमें पक्की सूचना है कि पाकिस्तान वहां नए रास्ते से आतंकी भेजने की कोशिश में है, लेकिन बीएसएफ के साथ ही पंजाब और जम्मू व कश्मीर की पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है ताकि उनकी साजिशों को नाकाम किया जा सके।'

जनवरी से सितंबर के बीच 2050 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन 

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान सेना की हताशा का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब से भारत ने धारा 370 को समाप्त किया है तब से वह भारतीय सीमा के भीतर 600 बार अकारण गोलीबारी कर चुकी है। जबकि जनवरी से सितंबर के बीच 2050 बार पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.