टीकाकरण अभियान के लिए श्रीलंका और भूटान ने दी PM मोदी को बधाई, महामारी खत्म होने का जताया भरोसा

भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन वैक्सीन की खुराकें देने का काम शनिवार से शुरू हो गया है।

भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में दो वैक्सीन- कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxin) का इस्तेमाल किया जा रहा है। भारत ने भूटान और श्रीलंका को उनकी मांग पर वैक्सीन की आपूर्ति करने का आश्वासन भी दिया है।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 08:58 AM (IST) Author: Manish Pandey

नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत में कोविड-19 (Covid-19) से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान (Vaccination Drive in India) शुरू होने पर भूटान और श्रीलंका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को बधाई दी है। दोनों पड़ोसी देशों के प्रधानमंत्रियों ने अपने संदेश में विश्वास जताया है कि विश्व के इस सबसे बड़े टीकाकरण अभियान से बड़ी संख्या में लोगों को कोविड महामारी के प्रकोप से बचाया जा सकेगा।

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (Sri Lankan premier Mahinda Rajapaksa ) ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी और भारत सरकार को बधाई दी है। उन्होंने भारत में शुरू हुए टीकाकरण अभियान को बहुत महत्वपूर्ण बताया है। कहा है कि इससे कोविड महामारी का अंत करने में मदद मिलेगी। इससे पहले कोलंबो स्थित भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट कर भारत में टीकाकरण अभियान शुरू होने की जानकारी दी थी। राजपक्षे का ट्वीट उसी के जवाब में आया।

इसके जवाब में पीएम मोदी ने राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को धन्यवाद दिया। पीएम ने लिखा, 'हमारे वैज्ञानिकों और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं के अथक प्रयासों ने इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। टीके को जल्द बनाना और उसे लॉन्च करना स्वस्थ और रोग मुक्त दुनिया के लिए हमारे संयुक्त प्रयास में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग (Bhutan Prime Minister Lotay Tshering) ने प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय लोगों से ट्वीट के जरिये कहा, टीकाकरण अभियान शुरू होने पर बधाई। आशा है कि इससे कोविड महामारी से जूझ रहे तमाम लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी। फेसबुक पर पोस्ट में शेरिंग ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड महामारी के पूरे दौर में अनुकरणीय नेतृत्व का परिचय दिया। वह बधाई के पात्र हैं। मोदी ने जवाब में शेरिंग का शुक्रिया अदा किया है और इस अभियान का श्रेय वैज्ञानिकों, चिकित्सकों और वैक्सीन तैयार करने में जुटे कर्मियों को दिया है। मोदी ने कहा, भारत पूरी धरती के लोगों को स्वस्थ करने के लिए हर संभव कार्य करने को तैयार है।

भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन वैक्सीन की खुराकें देने का काम शनिवार से शुरू हो गया। सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों और मरीजों के सबसे ज्यादा नजदीक रहने वाले सरकारी कर्मियों का टीकाकरण हो रहा है। उल्लेखनीय है कि भारत ने भूटान और श्रीलंका को उनकी मांग पर वैक्सीन की आपूर्ति करने का आश्वासन दिया है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.