राजस्थान के जालोर में करंट की चपेट में आई यात्रियों से भरी बस, ड्राइवर समेत 6 लोगों की मौत, तकरीबन 3 दर्जन झुलसे

राजस्थान में यात्रियों से भरी एक बस बिजली के तार की चपेट में आ गई। (फोटो दैनिक जागरण)

बस में करंट आने से बस में सवार यात्रियों में से 6 लोगों की मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है। हादसे में 17 गंभीर घायलों को जालौर से जोधपुर के एमडीएम अस्पताल के लिए रेफर किया गया है।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 06:57 AM (IST) Author: Sanjeev Tiwari

जोधपुर, जेएनएन। राजस्थान के जोधपुर संभाग के जालोर जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां के महेशपुर गांव में यात्रियों से भरी एक बस बिजली के तार की चपेट में आ गई, जिससे की इसमें सवार लोग बुरी तरह झुलस गए पूरी बस आग की चपेट में आने से ड्राइवर समेत 6 लोगों के मौत की सूचना है । वही बस में सवार तकरीबन सभी लोग झुलसे हैं, जिनको इलाज के लिए जालौर भिजवाया गया है। वहीं कुछ गंभीर लोगों को जोधपुर लाने की बात सामने आई है। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अमला महेशपुर गांव पहुचा, और राहत बचाव कार्य शुरू किए। यह सभी लोग जैन समुदाय से जुड़े बताए जा रहे हैं जो कि तीर्थाटन पर थे।

मिली जानकारी के मुताबिक, राजस्थान के जालोर जिले के महेशपुर गांव में भीषण हादसा हुआ है। यात्रियों से भरी हुई दो बसें रास्ता भटकीं और एक गांव में पहुंच गई। वहां रास्ते में बिजली के तार झूलते देख ड्राइवर ने बस रोक दी। बस का कंडक्टर या खलासी बस की छत पर पहुंचा और एक डंडे की मदद से बिजली के तार को ऊपर उठा कर बस को निकालने की कोशिश की जा रही थी।इसी दौरान डंडे से बिजली का तार झटक कर बस से अटक गया। जिससे कि बस में करंट दौड़ गया। इसके बाद बस में सवार अन्य लोग भी करंट की चपेट में आए और देखते ही देखते बस में भी आग पकड़ ली।

पीएम मोदी ने व्यक्त की संवेदना

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने लिखा कि राजस्थान के जालौर में हुए बस हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। इस दुर्घटना में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मैं उनके परिवार वालों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

सभी जैन समुदाय के लोग थे सवार

इस हादसे में बस में सवार सभी लोग जैन समुदाय से संबंधित थे जो कि तीर्थटन पर निकले थे ।मृतकों की पहचान के लिए पुलिस ने प्रयास तेज किये है। हादसे में ब्यावर निवासी सोनल (44), सुरभि ( 25 ) , ब्यावर निवासी चांद देवी ( 65 ) , अजमेर निवासी राजेन्द्र , और ड्राइवर धर्मचदं जैन व एक अन्य की मौत हो गई , जबकि बस में सवार अन्य लोग झुलसे हैं। जिनको जालोर भेज गया है। गंभीर झुलसे लोगों को जोधपुर रेफर किया गया है।

नाकोड़ा दर्शन कर निकले थे श्रद्धालु

दो बसों में सवार यह सभी श्रद्धालु अजमेर और ब्यावर क्षेत्र के निवासी बताए जा रहे हैं। वे बाड़मेर के नाकोड़ा में दर्शन करने के बाद जालोर के मांडोली में जैन मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे । मगर यहां से ब्यावर जाते समय रास्ता भटककर महेशपुरा गांव पहुंच गए । वहां बिजली तार की चपेट में आने से हादसा हो गया । नाकोड़ा दर्शन करने के बाद यह सभी जालौर के रामसीन क्षेत्र में बने जैन मंदिर के दर्शन करने के लिए जा रहे थे। लेकिन गूगल मैप के जरिए रास्ता भटकने के बाद यह महेशपुर गांव में पहुंच गए जहां बिजली के तारों के संपर्क में आने से पूरी बस में करंट फैल गया और बाद में आग लग गई जिससे यह हादसा हो गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.