School Reopening: स्‍कूल खोलने को लेकर असमंजस, कई राज्‍यों में फिर खुल रहे, कई में हुए बंद

कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव के बीच कई राज्यों ने स्कूलों को खोल दिया है। हरियाणा राजस्थान असम झारखंड और मध्य प्रदेश में अलग-अलग कक्षा के छात्र के लिए स्कूल खोले गए हैं। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है।

Arun Kumar SinghMon, 20 Sep 2021 05:38 PM (IST)
कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव के बीच कई राज्यों ने स्कूलों को खोल दिया है।

 नई दिल्‍ली, एएनआइ। कोरोना के मामलों में उतार-चढ़ाव के बीच कई राज्यों ने स्कूलों को खोल दिया है। हरियाणा, राजस्थान, असम, झारखंड और मध्य प्रदेश में अलग-अलग कक्षा के छात्र के लिए स्कूल खोले गए हैं। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। काफी दिन बाद स्‍कूल आने पर छात्र काफी खुश दिखे। वहीं कोरोना के मामले बढ़ने पर हिमाचल प्रदेश और लद्दाख स्‍कूल बंद कर दिए गए।

मध्‍य प्रदेश में खुले स्‍कूल

कोरोना की दूसरी लहर के बाद मध्य प्रदेश में सोमवार से कक्षा एक से पांच तक के लिए स्कूल फिर से खुल गए हैं। हालांकि फिलहाल 50 फीसद क्षमता के साथ स्कूल खोले गए। इस दौरान कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

142 दिनों के बाद हरियाणा में खुले स्‍कूल

हरियाणा में पहली से तीसरी कक्षा के छात्रों के लिए 142 दिनों के बाद स्कूल खुले। हालांकि, प्रथम दिन छात्रों की संख्या 30 फीसद ही रही। स्कूलों में सुबह 9 बजे से 12 बजे तक पढ़ाई करवाई जाएगी। हालांकि छोटे बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए कोरोना महामारी को लेकर मास्क और दो गज की दूरी का पालन करने के लिए व्यवस्था बनाई गई।

असम में खुले स्‍कूल

असम के डिब्रूगढ़ में कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए 10वीं कक्षा के लिए स्कूल खुल गए। विवेकानंद केंद्र विद्यालय के उप प्रधानाचार्य ने बताया कि सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन कर रहे हैं। प्रवेश द्वार पर सैनिटाइज़र रखा गया है। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है।

राजस्थान में खुले कक्षा 6 से 8 के स्‍कूल

राजस्थान के सरकारी और निजी स्कूलों में सोमवार से 50 फीसदी क्षमता के साथ 6 से 8 के छात्रों की नियमित कक्षाएं फिर से शुरू हो गईं। राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में सुबह की प्रार्थना सभा आयोजित करने और स्कूल कैंटीन खोलने की अनुमति नहीं है। जयपुर के एक निजी स्कूल के एक शिक्षक ने कहा कि छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं है। आनलाइन कक्षाएं पहले की तरह जारी हैं। छात्रों की उपस्थिति औसत है। कोविड प्रतिबंधों के कारण महीनों तक बंद रहने के बाद 1 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल फिर से खुल गए थे।

झारखंड में कक्षा 6 से 8 तक कक्षाएं जल्‍द खुलेंगी

झारखंड के सरकारी स्कूलों में कक्षा छह से आठ की आफलाइन कक्षाएं गुरुवार या शुक्रवार से शुरू हो सकती हैं। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग इसे लेकर सोमवार को गाइडलाइन जारी कर सकता है। इसमें आफलाइन कक्षाओं को लेकर तमाम शर्तें वहीं होंगी, जो कक्षा नौ से 12वीं के लिए स्कूलों को खोलने को लेकर जारी की गई थी। स्कूलों को सैनिटाइज करने के लिए दो-तीन दिन दिए जाएंगे। राज्य में लगभग 18 माह बाद कक्षा छठी तथा सातवीं तथा पांच माह बाद कक्षा आठवीं के बच्चों की आफलाइन पढ़ाई शुरू होगी।

हिमाचल में सभी स्‍कूलों को 25 सितंबर तक बंद रखने का आदेश

हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना के मामलों को देखते हुए आवासीय स्कूलों को छोड़कर सभी स्कूलों को 25 सितंबर तक बंद रखने का आदेश जारी किया है। स्कूलों में शिक्षक और गैर शिक्षक कर्मचारी उपस्थित रहेंगे।

लद्दाख में स्‍कूलों को 15 दिनों के लिए किया गया बंद

कोरोना मामलों में आई बढ़ोतरी के बीच केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के प्रशासन ने पिछले शनिवार से लेह जिले में सभी स्कूलों को 15 दिनों के लिए अस्थायी रूप से बंद करने का आदेश दिया है। एक स्कूल में दर्जनों बच्चों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद यह आदेश जारी किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट का छात्र की अर्जी पर सुनवाई से इन्‍कार

उधर, सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह छात्रों को स्कूल भेजने का आदेश जारी नहीं कर सकते। शीर्ष अदालत ने फिजिकल क्लास शुरू करने को लेकर दिल्ली के एक छात्र की अर्जी पर सुनवाई से इनकार कर दिया। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि हम न्यायिक फरमान जारी नहीं कर सकते कि बच्चों को स्कूल भेजा जाए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.