Republic Day Parade : पीएम मोदी ने कहा, भारत को सशक्त बनाने को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें नागरिक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैडेट्स और कलाकारों को किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैडेट्स को संबोधित करते हुए कहा कि जब आप लोग राजपथ पर जोश के साथ कदम ताल करते हैं तो देशवासियों में उत्साह भर जाता है। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण इतना कुछ बदल गया लेकिन आपका उत्साह वैसा ही है।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 05:03 PM (IST) Author: Neel Rajput

नई दिल्ली, एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों ने वैश्विक महामारी कोविड-19 की वैक्सीन तैयार करके अपने दायित्वों का निर्वाह कर दिया है। अब हमारी जिम्मेदारी है कि हम इस संबंध में झूठ और अफवाह फैलाने वाले नेटवर्को को सही जानकारियों के जरिये विफल कर दें। उन्होंने देश की सामाजिक-सांस्कृतिक विरासत की प्रशंसा करते हुए नागरिकों से आग्रह किया कि वह भारत को सशक्त बनाने और देश की बेहतरी के लिए जो कुछ भी कर सकते हों, जरूर करें। प्रधानमंत्री मोदी ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के कार्यक्रमों में शामिल होनेवाले एनसीसी कैडिटों, एनएसएस कार्यकर्ताओं और कलाकारों को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि हमें देश की आजादी के लिए अपना सब कुछ न्योछावर करने का अवसर नहीं मिला। लेकिन निश्चित रूप से हमारे पास देश के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने का अवसर है। हम अपने देश के लिए जो कुछ भी अच्छा कर सकते हैं, हमें करना चाहिए ताकि भारत और सशक्त हो। उन्होंने कहा कि एनसीसी, एनएसएस जैसे संगठनों ने हमेशा ही कठिन परिस्थितियों में अपनी बेहतरीन भूमिका निभाई है। कोविड काल में भी आपका किया काम बेहद सराहनीय है। जब भी सरकार और प्रशासन को जरूरत थी, आप लोगों ने आगे आकर स्वेच्छा से सहायता की। मोदी ने कहा कि चाहे आरोग्य सेतु एप के लिए जागरूकता फैलाना हो या फिर कोविड-19 संक्रमण के बारे में जानकारी का प्रसार करना हो, आपने हमेशा ही प्रशंसनीय कार्य किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि युवाओं को कोविड-19 वैक्सीन कार्यक्रम के बारे में मदद करने के लिए आगे आना चाहिए। इसके लिए उन्हें सही जानकारी को लोगों तक पहुंचाना होगा। मोदी ने कहा कि अब आपको इसे अगले चरण तक ले जाना होगा। आपकी पहुंच समाज के हरेक हिस्से तक है। आपको कोविड-19 वैक्सीन कार्यक्रम में देश की मदद करने के लिए आगे आना चाहिए। आपको इस बारे में सही जानकारी गरीबों और आम जनता तक पहुंचानी होगी।

उन्होंने कहा कि भारत आत्मनिर्भर सिर्फ इस बात से नहीं बन जाएगा कि कोई ऐसा कह रहा है। बल्कि यह उपलब्धि युवाओं के कार्यो से होगी। जब आपके पास जरूरी कौशल होगा तो आप बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। इसकी महत्ता को समझते हुए ही उनकी सरकार ने वर्ष 2014 से कौशल विकास मंत्रालय का गठन किया था। अब तक 5.5 करोड़ युवाओं को अब तक विभिन्न कौशलों का प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.