चीन से तनाव के बीच असम में सीमा के पास 12 सड़कों का कल उद्घाटन करेंगे राजनाथ सिंह

चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को असम जाएंगे। वह सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित 12 सीमा सड़कों का उद्घाटन करेंगे। यह जानकारी रक्षा मंत्रालय ने दी है। मंत्रालय ने चीन के पास के क्षेत्र में सड़कों का निर्माण किया है।

Arun Kumar SinghWed, 16 Jun 2021 09:09 PM (IST)
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को असम जाएंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को असम जाएंगे। वह सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित 12 सीमा सड़कों का उद्घाटन करेंगे। यह जानकारी रक्षा मंत्रालय ने दी है। इससे पहले रक्षा मंत्रालय ने चीन के पास के क्षेत्र में सड़कों का निर्माण किया है। इसमें अरुणाचल प्रदेश, लद्दाख समेत अन्य क्षेत्र शामिल है।

सात अलग सरकारी कंपनियों में बंटेगा आर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड, रक्षा उत्‍पादन के क्षेत्र में बड़ा कदम

उधर, केंद्रीय कैबिनेट ने रक्षा उत्पादन क्षेत्र के बहुप्रतीक्षित सुधार के लिए आर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड को पेशेवर मैनेजमेंट के साथ अलग-अलग सात सरकारी कंपनियों में बांटने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सरकार के इस बड़े कदम से रक्षा उत्पादन से जुड़ी इन नवगठित कंपनियों को अधिक स्वायत्तता मिलेगी जिससे इनकी कार्यक्षमता में सुधार होगा और जवाबदेही बढ़ेगी।

आर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड की उत्पादकता बढ़ाने और इसे लाभकारी बनाने के मकसद से इन सुधारों को मूर्त रूप दिया गया है ताकि इसकी विशेषज्ञता में इजाफा हो और यह ज्यादा प्रतिस्पर्धी बने। इस फैसले के सहज क्रियान्वयन के लिए सरकार ने कैबिनेट के अधिकार को रक्षा मंत्री राजनाथ ¨सह के अधीनस्थ अधिकार प्राप्त मंत्रियों के समूह को सौंपने का भी फैसला किया है।

राजनाथ सिंह ने हिंद-प्रशांत में अपने संबंधों को मजबूत करने पर दिया जोर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आसियान (ASEAN) देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक में कहा कि भारत राष्ट्रों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के सम्मान, बातचीत के माध्यम से विवादों के शांतिपूर्ण समाधान और अंतरराष्ट्रीय नियमों और कानूनों के पालन के आधार पर भारत-प्रशांत में एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी आदेश का आह्वान करता है। भारत ने क्षेत्र में शांति, स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए दृष्टिकोण और मूल्यों को परिवर्तित करने के आधार पर हिंद-प्रशांत में अपने सहकारी संबंधों को मजबूत किया है।

एडीएमएम प्लस 10 आसियान सदस्य देशों और आठ संवाद भागीदारों यानी ऑस्ट्रेलिया, चीन, भारत, जापान, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका को शामिल करने वाला एक महत्वपूर्ण मंच है। बैठक की मेजबानी ब्रुनेई रक्षा मंत्रालय ने की।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.