इन क्षेत्रों में आज और बढ़ सकती है बारिश, फसलों को हो सकता है नुकसान, चक्रवात तूफान जवाद को लेकर IMD ने किया अलर्ट

आइएमडी के डीजी ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया कि कुछ छोटे पेड़ गिर सकते हैं। तटीय क्षेत्रों में पेड़ों की शाखाएं टूट कर गिर सकती हैं। घास- फूस के घर भी तूफान से प्रभावित हो सकते हैं। बड़े पैमाने पर यह तूफान खड़ी फसलों को प्रभावित करेगा।

Dhyanendra Singh ChauhanSat, 04 Dec 2021 04:28 PM (IST)
उत्तरी आंध्र प्रदेश और तटीय और ओडिशा के कई जिलों में कल शाम से हो रही बारिश

नई दिल्ली, एएनआइ। बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान जवाद कमजोर पड़ गया है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार जवाद समुद्र के भीतर कमजोर होकर अब चार किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर व उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। पहले इसकी गति क्रमशः 60 से लेकर 110 किलोमीटर प्रतिघंटा होने का अनुमान जताया गया था। गति कम होने के कारण अब चक्रवात निम्न दबाव के रूप में रविवार दोपहर पुरी तट से टकराएगा। इस बीच, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने शनिवार को कहा कि चक्रवाती तूफान जवाद फसलों को नुकसान पहुंचा सकता है। चक्रवात तूफान के चलते आज आंध्र प्रदेश-ओडिशा में बारिश और तेज हो सकती है।

चक्रवाती तूफान के असर को लेकर आइएमडी के डीजी ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया कि कुछ छोटे पेड़ गिर सकते हैं। तटीय क्षेत्रों में पेड़ों की शाखाएं टूट कर गिर सकती हैं। घास- फूस के घर भी तूफान से प्रभावित हो सकते हैं। बड़े पैमाने पर यह तूफान खड़ी फसलों को प्रभावित करेगा।

इन क्षेत्रों में कल शाम से हो रही बारिश

साथ ही उन्होंने कहा कि जैसा कि अनुमान लगाया गया था कि चक्रवाती तूफान जवाद उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है और विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश से 230 किमी पूर्व और पुरी, ओडिशा से 400 किमी दक्षिण में केंद्रित है। उत्तरी आंध्र प्रदेश और तटीय और ओडिशा के कई जिलों में कल शाम से ही बारिश हो रही है।

रविवार-सोमवार को असम, मेघालय और त्रिपुरा में बारिश का है पूर्वानुमान

महापात्र के मुताबिक इन क्षेत्रों में आज बारिश की गतिविधि और बढ़ेगी। आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजियानगरम और विशाखापत्तनम के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा ओडिशा के गजापट्टी, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों के लिए भी रेड अलर्ट जारी हुआ है। चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल में शनिवार-रविवार और असम, मेघालय व त्रिपुरा में रविवार-सोमवार को कुछ इलाकों में भारी बारिश का पूर्वानुमान है।  उत्तरी ओडिशा में 5 दिसंबर को बारिश हो सकती है।

पुरी में एनडीआरएफ की टीमें तैनात

एनडीआरएफ के अधिकारी बिश्वनाथ चौधरी ने बताया कि चक्रवाती तूफान जवाद को देखते हुए यहां पुरी में एक टीम को तैनात किया गया है। अगर यहां हालात बिगड़ते हैं तो हमारे पास बचाव के सारे उपकरण और टीम तैयार हैं।

जलभराव के कारण यातायात हो सकता है प्रभावित

आइएमडी भुवनेश्वर के निदेशक एचआर बिस्वास ने बताया कि चक्रवाती तूफान जवाद को पिछले 1 घंटे में उत्तर की ओर बढ़ते हुए देखा गया था और यह अगले 12 घंटों तक ऐसे ही बढ़ता रहेगा। चक्रवात तूफान रविवार को पुरी के तटीय क्षेत्रों से टकराने की उम्मीद है और ये धीरे-धीरे कमजोर हो जाएगा। इस दौरान हवा की अधिकतम गति 75 किमी प्रति घंटा रहने का अनुमान है। रविवार को तेज बारिश की संभावना है और किसी भी क्षेत्र में तूफान को लेकर चेतावनी जारी नहीं की गई है। जलभराव के कारण यातायात प्रभावित हो सकता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.