कोविशील्ड बनाने वाली कंपनी के सीईओ पूनावाला ने टीका लगवाकर कहा- ऐतिहासिक दिन

दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की सफलता की कामना करता हूं।

देश में कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने स्वास्थ्य कर्मी की हैसियत से टीका लगवाने के बाद इस दिन को ऐतिहासिक बताया है। मैं दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की सफलता की कामना करता हूं।

Bhupendra SinghSat, 16 Jan 2021 07:59 PM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र। देश में कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने स्वास्थ्य कर्मी की हैसियत से टीका लगवाने के बाद इस दिन को ऐतिहासिक बताया है।

पूनावाला ने कहा- दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की सफलता की कामना करता हूं

पूनावाला ने टीका लगवाते हुए अपना वीडियो भी जारी किया है। वीडियो को ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत करने के लिए मैं भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सफलता की कामना करता हूं।

पूनावाला ने कहा- टीकाकरण अभियान में कोविशील्ड भी हिस्सा है, यह गौरव की बात है

पूनावाला ने कहा कि मेरे लिए यह गौरव की बात है कि इस अभियान में कोविशील्ड भी हिस्सा है। वैक्सीन की सुरक्षा और कारगरता को पुष्ट करने के लिए मैंने भी अभियान के पहले दिन टीका लगवाया है। उल्लेखनीय है कोविशील्ड को आक्सफोर्ड विवि और एस्ट्राजेनेका कंपनी ने विकसित किया है जबकि निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ने किया है।

भारत में टीकाकरण अभियान की शुरुआत, पीएम ने किया शुभारंभ

भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका शुभारंभ किया। लद्दाख में तैनात इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) के लगभग 20 स्वास्थ्यकर्मियों को शनिवार को कोरोना टीका लगा। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार बल के प्रवक्ता विवेक कुमार पांडे ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इसमें दो महिला अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी कात्यायनी शर्मा पांडे और चिकित्सा अधिकारी डॉ. स्कलजंग अंग्मो शामिल हैं।

हर्षवर्धन ने कहा- वैक्सीन कोरोना के खिलाफ जंग में संजीवनी का काम करेगी

टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि वो आज बहुत खुश हैं, वैक्सीन कोरोना के खिलाफ जंग में संजीवनी का काम करेगी। भारत ने पहले पोलियो और चेचक के खिलाफ जंग जीती है और अब भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के निर्णायक दौर में पहुंच चुका है। गौरतलब है कि पहले चरण में तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा। डीसीजीआइ ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और स्वदेशी भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.