Police Commemoration Day: अमित शाह ने कहा- देश में जल्द दूर होगी पुलिसकर्मियों की कमी

पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर शहीद पुलिसकर्मियों को दी श्रद्धांजलि।
Publish Date:Wed, 21 Oct 2020 07:57 PM (IST) Author: Bhupendra Singh

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने देश में जनसंख्या के अनुपात में पुलिस बल की कमी को दूर करने के लिए जल्द ही कदम उठाए जाने के संकेत दिये। शाह ने माना कि दुनिया के अन्य देशों में जनसंख्या के अनुपात में भारत में पुलिस बल की संख्या काफी कम है और इस कारण पुलिसकर्मियों पर काम का बोझ बहुत ज्यादा है।

अमित शाह ने कहा- भारत में पुलिसबल की संख्या दुनिया के अन्य देशों की तुलना में कम है

अमित शाह ने देश में पुलिसकर्मियों के 24 घंटे, 365 दिन काम करने और तीज-त्योहार पर भी ड्यूटी पर तैनात रहने का जिक्र करते हुए कहा कि 'दुनिया की अपेक्षा भारत में प्रति एक लाख व्यक्ति पर पुलिसबल की संख्या कम है, मगर मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि मोदी जी के नेतृत्व में कई योजनाओं पर काम चल रहा है।'

भारत में एक लाख जनसंख्या पर 198 पुलिस कर्मी हैं: पुलिस अनुसंधान व विकास ब्यूरो

पुलिस अनुसंधान व विकास ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक 2018 में देश में कुल स्वीकृत पदों के हिसाब से प्रति एक लाख जनसंख्या पर 198 पुलिस कर्मी हैं, जो दुनिया के अन्य देशों की तुलना में काफी कम है। इस पर विडंबना यह कि कुल स्वीकृत 25.95 लाख पदों में 5.28 लाख से अधिक पद खाली हैं। यानी स्वीकृत पदों में भी लगभग 20 फीसद पद खाली हैं।

अमित शाह ने कोरोना संकट के दौरान पुलिस की भूमिका को सराहा

कम संख्या और लगातार काम के दबाव के बावजूद कोरोना संकट के दौरान पुलिस की भूमिका की अमित शाह ने सराहना की। शाह के अनुसार लॉकडाउन को प्रभावी तरीके से लागू करने से लेकर लाखों प्रवासी मजदूरों की सहायता, बीमारों को अस्पताल पहुंचाना, ब्लड डोनेशन से लेकर प्लाज्मा डोनेशन तक कोरोना के खिलाफ जंग में पुलिसकर्मी सबसे आगे रहे।

अमित शाह ने कहा- कोरोना के खिलाफ जंग में 343 पुलिसकर्मी शहीद हो गए

उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई के दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी भी संक्रमित हुए और इससे 343 पुलिसकर्मियों की मौत भी हुई। शाह ने सरकार की ओर से पुलिसकर्मियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि 'आप देश और आंतरिक सुरक्षा को संभालिए, सरकार आपकी और आपके परिवार की रक्षा के लिए सदैव तत्पर, जागरूक और प्रतिबद्ध रहेगी।'

'कानून व व्यवस्था बनाए रखने से लेकर जघन्य अपराधों को सुलझाने तक, आपदा प्रबंधन में सहयोग से लेकर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई तक, हमारे पुलिस के जवानों ने बिना किसी झिझक के अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है'-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.