चर्च में हुई हत्याओं पर पीएम मोदी ने जताया दुख, कहा-आतंकवाद के खिलाफ जंग में फ्रांस के साथ है भारत

फ्रांस में नीस शहर के एक चर्च के पास एक शख्स ने चाकू से तीन लोगों की हत्या कर दी
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 11:40 PM (IST) Author: Dhyanendra Singh

नई दिल्ली, प्रेट्र। फ्रांस के नीस शहर में चर्च में हुए आतंकी हमले समेत सभी आतंकी हमलों की निंदा करते हुए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि आतंकवाद के खिलाफ उनका देश फ्रांस के साथ है। उल्लेखनीय है एक हमलावर ने फ्रांस के नीस शहर में एक चर्च में घुसकर एक महिला समेत तीन लोगों की हत्या कर दी। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, फ्रांस के एक चर्च में हुए हमले सहित हाल के दिनों में वहां हुई आतंकवादी घटनाओं की मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। पीडि़त परिवारों और फ्रांस की जनता के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ खड़ा है।

भारत ने इस्लामी चरमपंथ पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के कड़े रुख के बाद उन पर व्यक्तिगत हमलों की बुधवार को कड़ी निंदा करते हुए इसे अंतरराष्ट्रीय विमर्श के सबसे बुनियादी मानकों का उल्लंघन बताया था। विदेश मंत्रालय ने कड़े शब्दों में जारी एक बयान में बर्बर आतंकवादी हमले की भी निंदा की थी, जिसमें फ्रांस के एक शिक्षक का सिर कलम कर हत्या कर दी गई थी।

मंत्रालय ने बयान में कहा था, हम बर्बर आतंकवादी हमले में फ्रांस के एक शिक्षक की निर्ममता से हत्या किये जाने की निंदा करते हैं, जिसने पूरे विश्व को स्तब्ध कर दिया। हम उनके परिवार और फ्रांस के लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं। भारतीय इंटरनेट मीडिया में भी फ्रांस को जबर्दस्त समर्थन मिल रहा है।

विदेश मंत्रालय के बयान के बाद भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लेनिन ने ट्वीट कर भारत का आभार जताया और कहा कि दोनों देश आतंकवाद के खिलाफ जंग में एक-दूसरे का सहयोग कर सकते हैं।

एक टीचर की भी हुई थी हत्या

नीस शहर के चर्च में यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब फ्रांस अभी भी चेचन मूल के एक व्यक्ति द्वारा फ्रांसीसी मध्य कॉलेज के टीचर सैमुअल पैटी के इस महीने की शुरुआत में हत्या कर दी गई थी। पैटी की हत्या के मामले में अभी तक 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के रडार पर वे लोग भी हैं जिन्होंने पैटी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाया था। इन लोगों ने पैटी द्वारा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की पढ़ाई कराते समय पैगंबर मुहम्मद का कार्टून दिखाए जाने को गलत माना था।

यह भी देखें: आतंकवाद के खिलाफ PM Modi समेत दुनिया ने दिया फ्रांस का साथ, विश्वभर में निंदा

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.