कोरोना के हालात पर मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी ने की बैठक, बोले- देश को मुहैया कराएंगे सबसे बेहतर वैक्सीन

कोरोना के हालात को लेकर पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ आज बैठक की। (फोटो: एएनआइ)

देश में कोरोना से 8 सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बैठक की। इसके अलावा सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वैक्सीन के वितरण को लेकर चर्चा भी हुई इसमें रणनीति बनाने पर जोर दिया गया।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 07:55 AM (IST) Author: Shashank Pandey

नई दिल्ली, एजेंसियां। देश के कई राज्यों में कोरोना महामारी के फिर से तेजी से पैर पसारने से चिंतित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ आज एक अहम बैठक की। इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना के हालात के मामले में भारत की स्थिति कई अन्य देशों से बेहतर है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि वह देश को एक बेहतर वैक्सीन मुहैया कराएंगे। पीएम मोदी के साथ आज बैठक में कोरोना के आठ सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्री और अन्य सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने हिस्सा लिया। इस बैठक में कोरोना वैक्सीन के वितरण को लेकर भी चर्चा हुई । इस बैठक मेें महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और हरियाणा समेत कई राज्यों ने कोरोना वैक्सीन के वितरण को लेकर चर्चा की।

देश को मुहैया कराएंगे बेहतर वैक्सीन- PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर बड़ा बयान दिया है।  पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन कब आएगी, इसका वक्त हम तय नहीं कर सकते हैं बल्कि ये वैज्ञानिकों के हाथ में है। लेकिन उन्होंने कहा कि हम देश को बेहतर वैक्सीन मुहैया कराएंगे।

कई देशों से बेहतर स्थिति में भारत- PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद कहा कि रिकवरी की अच्छी दरों को देखकर, कई लोग सोचते हैं कि वायरस कमजोर है और वे जल्द ही ठीक हो जाएंगे, इससे बड़ी लापरवाही हुई है। टीके पर लगातार काम हो रहा है। हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि लोग सतर्क रहें और आने-जाने पर अंकुश लगा रहे। हमें 5% तक पॉजिटिव रेट लाना चाहते हैं और मृत्‍यु दर को 1 फीसद से कम लाना चाहते हैं।  

उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन और वेंटिलेटर उपलब्ध कराने पर भी ध्यान केंद्रित किया गया है। हम मेडिकल कॉलेजों और जिला अस्पतालों को आक्सीजन निर्माण में आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास कर रहे हैं। देश में 160 से अधिक ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने के प्रयास चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि संयुक्त प्रयासों के परिणामस्वरूप, आज भारत कोरोना रिकवरी और मृत्यु दर में अन्य देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में है। 

हरियाणा के साथ वैक्सीन वितरण पर चर्चा

पीएम मोदी के साथ आभासी बैठक के बाद हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हमें कहा गया है कि इस बैठक में हमें कहा गया है कि वैक्सीन को आम जनता के लिए उपलब्ध कराने की रणनीति बनाएं। चूंकि एक बार में सभी को टीका देना संभव नहीं है।

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि पहले चरण में, स्वास्थ्य कर्मियों और चिकित्सा सेवा से जुडे लोगों को वैक्सीन प्रदान किया जाएगा जिन्हें इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है। मखट्टर ने कहा कि दूसरे चरण में आवश्यक सेवा प्रदाताओं को  वैक्सीन दी जाएगी और फिर दो चरण होंगे जिसमें आयु-वार वितरण होगा।

ममता ने कही कोरोना वैक्सीन पर केंद्र के साथ सहयोग की बात

पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी पीएम मोदी से बात की। ममता बनर्जी ने कहा कि वैक्सीन उपलब्ध होते ही सभी के लिए त्वरित और सार्वभौमिक टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए हम केंद्रीय और अन्य सभी हितधारकों के साथ काम करने के लिए तैयार हैं।

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव बोले- वैक्सीन को लेकर कर रहे काम

पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को कोरोना वैक्सीन को लेकर जानकारी दी। महाराष्ट्र के सीएम कार्यालय के अनुसार, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने पीएम नरेंद्र मोदी को सूचित किया कि वह सीरम इंस्टीट्यूट के अडार पूनावाला के साथ लगातार संपर्क में हैं। उन्होंने साथ ही बताया कि राज्य ने वैक्सीन का समय पर वितरण सुनिश्चित करने और टीकाकरण कार्यक्रम को क्रियान्वित करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन भी किया है।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने बताए राज्य के हालात

पीएम मोदी के साथ बैठक के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में 10 नवंबर को कोरोना की तीसरी लहर आई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री कार्यालय ने जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को जानकारी दी कि दिल्ली में 10 नवंबर को 8600 कोरोना मामलों के साथ तीसरी लहर देखी गई। सीएम केजरीवाल ने कहा कि तब से मामले और पॉजिटिव दर लगातार कम हो रही है। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर की उच्च गंभीरता प्रदूषण सहित कई कारकों के कारण है।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम से हस्तक्षेप की मांग की, ताकि प्रदूषण से छुटकारा मिल सके। उन्होंने निकटवर्ती राज्यों से जलने वाली पराली के कारण होने वाले प्रदूषण पर चिंता जताई। इसके साथ ही सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में तीसरी लहर तक केंद्र सरकार के अस्पतालों में अतिरिक्त 1000 आईसीयू बेड की भी मांग की है।

इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह के साथ कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद रहे । इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल शामिल हुए। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई।

दिल्ली में लगातार चौथे दिन 100 से ज्यादा मौतें

दिल्ली में कोरोना की स्थिति लगातार बिगड़ रही है। यहां लगातार चौथे दिन सौ से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है। सोमवार को यहां 4,454 नए मामले सामने आए। लेकिन बीते 24 घंटे में 121 मरीजों की मौत हुई। कोरोना से मौत का आंकड़ा बढ़ने से दिल्ली में कोरोना बेकाबू लग रहा है। 

इस बीच, देश के कई राज्यों के शहरों में कोरोना के बेकाबू हालात के बीच नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इन राज्यों में गुजरात और राजस्थान शामिल हैं। अहमदाबाद में नाइट कर्फ्यू 7 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया है। कर्फ़्यू रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा। इसके अलावा गुजरात में शादी और किसी भी धार्मिक प्रसंग को इजाजत नहीं दी जाएगी। गुजरात सरकार ने शादी, रिसेप्शन और अन्य समारोहों में 100 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी है, इसके अलावा अंतिम संस्कारों में 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई है।

यह भी देखें: COVID 19 से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्यों के CM से PM Modi की मीटिंग

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.