देश में ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की कैसी है हालत? संपर्क में आए पांच लोग भी हुए संक्रमित

भारत में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने दस्तक दे दी है। कर्नाटक में दो लोग इस नए स्ट्रेन से संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से एक पहले संक्रमण से उबर गया है जबकि दूसरा अस्पताल में भर्ती है। दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आए पांच लोग संक्रमित हुए हैं।

TaniskThu, 02 Dec 2021 06:57 PM (IST)
कर्नाटक में दो लोग ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित पाए गए हैं। (फाइल फोटो)

बेंगलुरु, आइएएनएस / एएनआइ। भारत में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने दस्तक दे दी है। कर्नाटक में दो लोग इस नए स्ट्रेन से संक्रमित पाए गए हैं। मामला सामने आने के साथ ही राज्य के अधिकारियों ने चुनौती से निपटने के लिए योजना बनाई है। इसके मद्देनजर बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने कोविड वार रूम में एक आपात बैठक बुलाई। समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने जानकारी दी है कि संक्रमित लोगों में से एक पहले ही ठीक हो चुका है, जबकि दूसरा क्वारंटाइन है। 

संपर्क में आए पांच लोग पाए गए संक्रमित

बीबीएमपी ने दोनों संक्रमित व्यक्तियों के प्राइमरी कांटैक्ट (सीधे संपर्क में आए लोग) को ट्रैक किया है। पहले संक्रमित व्यक्ति के 12 प्राइमरी कांटैक्ट नेगेटिव पाए गए हैं। वहीं दूसरे संक्रमित व्यक्ति के 212 प्राइमरी कांटैक्ट को क्वारंटाइन किया गया है और उनके टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार बीबीएमसी ने जानकारी दी है कि दोनों में से एक मरीज 66 और दूसरा 46 साल का है। 46 साल के व्यक्ति के तीन प्राइमरी और दो सेकेंड्री कांट्रैक्ट 22 से 25 नवंबर के बीच संक्रमित पाए गए। सभी लोग आइसोलेट हैं। इनके सैंपल जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं।

दोनों संक्रमित व्यक्तियों ने कोरोना टीका की दो खुराक ली थी

समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने गुरुवार को कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने बाद संक्रमित पाए गए सभी पांच लोगों को आइसोलेट कर  दिया गया है। एक सरकारी अस्पताल में उनका इलाज हो रहा है। दोनों संक्रमित व्यक्तियों ने कोरोना टीका की दो खुराक ली थी। घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हमने इनमें कोई गंभीर लक्षण नहीं दिखे हैं। डेल्टा वैरिएंट में सांस लेने में तकलीफ सहित गंभीर लक्षण दिखे थे। हालांकि, राज्य में ओमिक्रोन स्ट्रेन से प्रभावित लोगों में इस तरह के गंभीर लक्षण नहीं पाए गए हैं। हालांकि, सावधानियां बरती जानी चाहिए।

डाक्टर की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं

समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार सुधाकर ने कहा कि कर्नाटक में स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा किए गए आक्रामक टेस्टिंग के कारण ओमिक्रोन वायरस का जल्दी पता लगाया जा सका है। दो संक्रमित व्यक्तियों के प्राइमरी और सेकेंड्री कांटैक्ट्स की टेस्टिंग हुई। उन्होंने कहा कि दुबई जाने वाले संक्रमित व्यक्ति ने बेंगलुरु हवाई अड्डा टैक्सी से गया और अधिकारियों ने इसका पूरा ट्रैक रखा है। वहीं संक्रमित व्यक्ति स्थानीय 46 वर्षीय डाक्टर है। उसमें टेस्ट से पहले कमजोरी, बुखार और थकान के लक्षण थे। हाई वायरल लोड पाए जाने के बाद, उसका नमूना जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था। इसका परिणाम गुरुवार को आया। ओमिक्रोन वायरस से संक्रमित पाया गया दक्षिण अफ्रीकी नागरिक का ट्रैवल हिस्ट्री है, लेकिन डाक्टर की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.