top menutop menutop menu

केरल : क्लासरूम में अचानक दिखा विशालकाय हाथी, सच्चाई खुलते ही छात्रों की बढ़ी दिलचस्पी

मालाप्पुरम, एएनआइ। ऑनलाइन क्लासेज को दिलचस्प बनाने के लिए केरल के एक शिक्षक ने नया तरीका निकाला है। उन्होंने हाथी, गाय, शेर, ग्रहों का विशालकाय रूप दर्शाते हुए बच्चों के लिए शिक्षा में एक नया आयाम जोड़ दिया है। इतना ही नहीं वर्चुअल क्लासेज को और ज्यादा मजेदार बनाने के लिए ग्राफिक्स और ऑडियो का उपयोग किया गया है ताकि बच्चे जल्दी इससे जुड़ सकें।

एइएम एयूपी स्कूल में सामाजिक विज्ञान के शिक्षक श्याम वेंगलूर ने ऑनलाइन कक्षाओं में संवर्धित वास्तविकता पेश की है। इस अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुए वेंग्लूर कहते हैं कि वह अपने छात्रों को बेहतर शिक्षा देने का प्रयास कर रहे हैं।

अब एइएम एयूपी स्कूल के किंडरगार्टन के बच्चों में पढ़ाई को लेकर उत्साह बढ़ गया है और अब वो विशाल ग्रहों, जानवरों और अन्य दिलचस्प चीजों को देखने और नई चीजें सीखने के लिए काफी उत्सुक रहते हैं। वेंगलूर के इस कदम को मिलती सफलता को देखकर केरल के अन्य स्कूल भी ऐसा करने के लिए उनकी मदद ले रहे हैं।

वेंगलूर ने ऑनलाइन क्लासेज में वास्तविकता दिखाने के लिए ग्रीन स्क्रीन, ग्राफिक्स इमेज और कई ऐप्स एवं ऑडियो का इस्तेमाल किया है ताकि छात्रों की इसमें दिलचस्पी बढ़ाई जा सके। चित्रों को बड़ा दिखाने के लिए एआर तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे कंप्यूटर जनरेट की गई छवि को सुपरमोज किया जाता है और एक समग्र दृश्य प्रदान किया जाता है।

श्याम वेंगलोर ने एएनआइ को बताया, "इसे पूरा करने में लगभग दो महीने का समय लगा। ऑनलाइन पाठ काफी सुस्त था और इसके लिए अधिक प्रयास की जरूरत थी।" वेंगलूर के इन प्रयासों का असर भी नजर आ रहा है। छात्रों में पढ़ाई को लेकर उत्साह बढ़ गया है और वो नई चीजें सीखने के लिए एकदम तैयार रहते हैं।

1 जून को, केरल ने फर्स्ट बेल' नाम से स्कूली छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं शुरू की थी। केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड टेक्नोलॉजी फॉर एजुकेशन (KITE) ने उन कक्षाओं के लिए समय सारिणी जारी की जो KITE विक्टर्स चैनल के माध्यम से ली जाएंगी, और ये YouTube पर भी उपलब्ध होंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.