वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ के न‍िधन की अफवाहों को बेटी ने किया खार‍िज, लोगों से की भावुक अपील

वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ (67) गंभीर हालत में हैं और उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। उनकी बेटी मल्लिका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जानकारी दी है। सोशल मीडिया पर उनकी मौत की अफवाह उड़ी है जिसका खंडन उनकी बेटी ने क‍िया है।

Arun Kumar SinghMon, 29 Nov 2021 06:26 PM (IST)
वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ (67) 'गंभीर' हालत में हैं

 नई दिल्‍ली, जेएनएन। वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ (67) 'गंभीर' हालत में हैं और उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। उनकी बेटी मल्लिका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जानकारी दी है। सोशल मीडिया पर उनकी मौत की अफवाह उड़ी है, जिसका खंडन उनकी बेटी ने क‍िया है। व‍िनोद दुआ दूरदर्शन और एनडीटीवी जैसे समाचार चैनलों में काम कर चुके हैं और हिंदी पत्रकारिता के जाने माने चेहरे हैं।

बेटी ने दी जानकारी

उनकी बेटी मल्लिका ने बताया कि मेरे पिता जी आईसीयू में हैं और उनकी हालत काफी नाजुक है। उनका स्वास्थ्य अप्रैल से तेजी से खराब हो रहा था। वह अपने जीवन की किरण खो जाने के सदमे से अभी तक उबर नहीं पाए हैं। उन्होंने असाधारण जीवन जिया है और हमें भी ऐसा ही जीवन दिया है। वह किसी तकलीफ के हकदार नहीं हैं। वह बहुत प्रिय और श्रद्धेय हैं। मैं आप सबसे यह प्रार्थना करने का अनुरोध करती हूं कि उन्हें कम से कम तकलीफ हो।

67 वर्षीय दुआ की पत्नी व रेडियोलॉजिस्ट पद्मावती 'चिन्ना' दुआ का जून में कोविड के साथ लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया था। विनोद दुआ और उनकी पत्नी गुड़गांव के एक अस्पताल में थे, जब कोविड की दूसरी लहर अपने चरम पर थी। व‍िनोद दुआ का स्वास्थ्य तब से खराब है। विनोद दुआ की एक और बड़ी बेटी बकुल दुआ हैं, जो मनोवैज्ञानिक हैं।

व‍िनोद दुआ को सुप्रीम कोर्ट से मिली थी राहत

जून के महीने में वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ के खिलाफ दर्ज किए गए राजद्रोह का मुकदमे को सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त कर दिया था। विनोद दुआ के यूट्यूब चैनेल में की गई टिप्पणियों पर हिमाचल प्रदेश में राजद्रोह सहित कई धाराओं मे मुकदमा दर्ज कराया गया था।

विनोद दुआ के खिलाफ शिमला जिला के कुमारसैन पुलिस थाने में छह मई को देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ था। अजय श्याम ने शिकायत में आरोप लगाया था कि दुआ ने यू-ट्यूब चैनल में मोदी और केंद्र सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया। इसमें प्रधानमंत्री पर कई तरह के आरोप लगाए गए। सरकार के कोविड 19 से निपटने के दावों को झुठलाया गया। उन्होंने दावा जताया था कि इससे सरकार के खिलाफ अशांति, अराजकता फैल सकती है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.