केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा, कोविड संकट में उच्चस्तरीय अभियानों के लिए नौसेना तैयार

'कॉम्बैट रैडी पॉस्चर' से देश की जल सीमाओं की रक्षा और स्थिरता सुनिश्चित होगी

केंद्रीय मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि पिछला साल चुनौतियों से भरा हुआ था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए मौजूदा चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सुरक्षा को बढ़ाया गया है।

Neel RajputMon, 19 Apr 2021 06:01 PM (IST)

पणजी, प्रेट्र। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि भारतीय नौसेना ने कोविड-19 के संकट के दौरान उच्चस्तरीय अभियानों की तैयारी कर ली है। 'कॉम्बैट रैडी पॉस्चर' से देश की जल सीमाओं की रक्षा और स्थिरता सुनिश्चित होगी।

नाइक ने सोमवार को भारतीय नौसैनिक एयर स्क्वाड्रन 323, की पहली यूनिट को शामिल किया। इसमें पणजी से तीस किमी दूर वास्को टाउन के पास आइएनएस हंसा बेस के पास घातक एएलएच (एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर) एमकेथ्री को बनाया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि पिछला साल चुनौतियों से भरा हुआ था। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए मौजूदा चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सुरक्षा को बढ़ाया गया है। कोविड-19 के माहौल में अभियान, आर्थिक स्थिति और सामाजिक ढांचे पर असर पड़ा है। उन्होंने कहा कि मुझे यह देखकर बेहद खुशी है कि नौसेना ने इस दौरान अभियानों की तैयारी के उच्चतम स्तर को कायम रखा। ताकि हमारी विशाल समुद्र तटीय सीमाओं में स्थिरता और सुरक्षा सुनिश्चित हो।

नाइक ने कहा कि पश्चिमी नौसैनिक कमांड ने देश के नौसैनिक हितों को सुरक्षित रखने के लिए अहम प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि हम पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.