खाड़ी देशों में भारतीयों के प्रवेश पर रोक मामले में दखल दे केंद्र : एमवी श्रेयम्स कुमार

कुमार ने मंत्री को लिखे एक पत्र में चिंता जताई है कि खाड़ी सहयोग परिषद (GCC) देशों में हजारों भारतीय प्रवासियों पर नौकरी और कारोबार खोने का खतरा है क्योंकि कतर को छोड़कर बाकी देशों ने भारत से उड़ानों पर रोक के साथ-साथ कुछ प्रवेश प्रतिबंध भी लगाए हैं।

Dhyanendra Singh ChauhanWed, 04 Aug 2021 02:15 AM (IST)
राज्यसभा सदस्य एमवी श्रेयम्स कुमार की फाइल फोटो

नई दिल्ली, प्रेट्र। राज्यसभा सदस्य एमवी श्रेयम्स कुमार ने मंगलवार को विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात की। उन्होंने खाड़ी देशों में प्रवेश प्रतिबंध लगाए जाने से भारतीय प्रवासियों को हो रही परेशानी के निदान के लिए केंद्र सरकार के दखल का अनुरोध किया।

कुमार ने मंत्री को लिखे एक पत्र में चिंता जताई है कि खाड़ी सहयोग परिषद (GCC) देशों में हजारों भारतीय प्रवासियों पर नौकरी और कारोबार खोने का खतरा है, क्योंकि कतर को छोड़कर बाकी देशों ने भारत से उड़ानों पर रोक के साथ-साथ कुछ प्रवेश प्रतिबंध भी लगाए हैं। केरल समेत अन्य प्रदेशों के निवासी कोविड-19 महामारी के कारण वापस लौट आए थे।

कुमार ने अपने पत्र में कहा है कि यदि खाड़ी के प्रवासी भारतीयों की बड़े पैमाने पर नौकरियां चली जाती हैं और उन्हें अपने घरों में रहने के लिए बाध्य होना पड़ता है तो केरल जैसे राज्य में सामाजिक और आíथक अराजकता की स्थिति पैदा हो जाएगी।

आवाजाही पर लगा प्रतिबंध हटाएगा यूएई

इसी बीच संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) गुरुवार से भारत और पाकिस्तान समेत अन्य सभी जगहों के लिए विमानों की आवाजाही पर लगा प्रतिबंध हटाने जा रहा है। राष्ट्रीय आपदा एवं संकट प्रबंधन प्राधिकार (एनसीईएमए) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। भारत और पाकिस्तान अमीरात, एतिहाद एयरवेज एवं अन्य यूएई कैरियर फ्लाईदुबई और एयर अरबिया के लिए महत्वपूर्ण बाजार हैं।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.