Second Wave of Coronavirus: भारतीयों के मुकाबले US और ब्रिटेन के लोगों में ज्‍यादा खौफ, वायरस के खिलाफ जंग में भारत ने दिखाया संयम

विभिन्न साफ्टवेयर के माध्यम से नौ लाख से अधिक ट्वीट का विश्लेषण किया गया। मार्च-अप्रैल महीने में किए गए सर्वाधिक ट्वीट भय से संबंधित थे। दुख डर गुस्सा संबंधी ट्वीट करने वाले टॉप पांच देशों में अमेरिका पहले नंबर पर था।

Ramesh MishraFri, 18 Jun 2021 04:29 PM (IST)
भारतीयों के मुकाबाले अमेरिका और ब्रिटेन के लोगों में ज्‍यादा भय। फाइल फोटो।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्‍क। डीयू शोधकर्ताओं ने गत वर्ष मार्च-अप्रैल महीने में किए गए ट्वीट के आधार पर कोरोना वायरस का भावनात्मक विश्लेषण (इमोशनल एनालिसिस) किया। विभिन्न साफ्टवेयर के माध्यम से नौ लाख से अधिक ट्वीट का विश्लेषण किया गया। मार्च-अप्रैल महीने में गुस्सा, भय, खुशी, दुख संबंधी ट्वीट को अलग-अलग किया गया। मार्च-अप्रैल महीने में किए गए सर्वाधिक ट्वीट भय से संबंधित थे। दुख, डर, गुस्सा संबंधी ट्वीट करने वाले टॉप पांच देशों में अमेरिका पहले नंबर पर था। इसके अलावा ब्रिटेन, कनाडा, नाइजीरिया और इसके बाद भारत था।

कोरोना की दूसरी लहर ने भारत को हिला कर रख दिया

कोरोना की दूसरी लहर ने भारत को हिला कर रख दिया। देश में वैक्‍सीनेशन प्रक्रिया में तेजी के बावजूद ऑक्‍सीजन की कमी के चलते कोरोना से काफी मौतें हुईं। देश में भय का माहौल था। इसके बजाए कोरोना की दूसरी लहर में अमेरिका समेत अन्‍य पश्चिमी देशों में इस बार थोड़ी सी राहत थी। अमेरिका एवं पश्चिमी देशों ने वैक्‍सीनेशन प्रक्रिया पर खुब जोर दिया। पर्याप्‍त संसाधनों के चलते अमेरिका और पश्चिमी देशों में कोरोना में मौत का ग्राफ पहली लहर के बजाए काफी नीचे रहा, लेकिन ट्वीट के जरिए कराए गए सर्वे चौंकाने वाली रिपोर्ट पेश करते हैं।

ट्वीट के जरिए दुनिया का भावनात्मक सर्वे

दुनिया में जब कोरोना वायरस का प्रसार चरम पर था उस वक्‍त ट्वीट के जरिए एक सर्वे कराया गया। कोरोना काल में ट्वीट के जरिए लोगों के भावनात्मक एवं मनोवैज्ञानिक विश्‍लेषण का प्रयास किया गया। इसमें लोगों के अंदर भय, खुशी और दुख के ट्वीट को अलग किया गया। खास बात यह है कि सर्वाधिक ट्वीट भय से जुड़े थे। दुनिया में कोरोना वायरस को लेकर लोग सहमें हुए हैं। दुख, डर, गुस्सा संबंधी ट्वीट करने वाले टॉप पांच देशों में अमेरिका अग्रणी राष्‍ट्र है। हालांकि, कोरोना वैक्‍सीनेशन में तेजी के कारण अमेरिका में कोरोना का कहर पहली लहर के बाजए कम था, लेकिन लोगों के अंदर पर्याप्‍त भय व्‍याप्‍त था।

भारत से ज्‍यादा अमेरिका और ब्रिटेन के लोग भयभीत

इस मानदंड पर दूसरे नबंर पर ब्रिटेन का स्‍थान है। ब्रिटेन के लोगों में भी कोरोना के चलते काफी भय व्‍याप्‍त था। ब्रिटेन के नागरिकों में कोरोना को लेकर काफी गुस्‍सा था। इसके साथ अपनों के खोना का बड़ा दुख भी था। इस आधार पर कनाडा तीसरे स्‍थान पर था। अफ्रीकी राष्‍ट्र नाइजीरिया चौथे स्‍थान पर था। पांचवें स्‍थान पर भारत था। कोरोना की दूसरी पहले ने पूरे भारत काे झकझोर कर रख दिया है। लोगों में कोरोना को लेकर काफी भय व्‍याप्‍त है, लेकिन इस मामले में अमेरिका और ब्रिटेन, भारत से काफी आगे हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.