मिशन कर्मयोगी: नौकरशाही में बड़े सुधार लाने के लिए कार्यबल के प्रमुख होंगे इंफोसिस के पूर्व सीईओ शिबू लाल

केंद्र ने हाल ही में देश में सभी सिविल सेवाओं के लिए नियम आधारित प्रशिक्षण से भूमिका-आधारित क्षमता विकास में आमूलचूल बदलाव लाने के लिए नेशनल प्रोग्राम फार सिविल सर्विसेज कैपासिटी बिल्डिंग-मिशन कर्मयोगी को मंजूरी प्रदान की है।

Bhupendra SinghThu, 24 Jun 2021 01:43 AM (IST)
नौकरशाही में बड़े सुधार लाने के लिए सरकार ने गठित की तीन सदस्यीय टास्क फोर्स।

नई दिल्ली, प्रेट्र। इंफोसिस के पूर्व सीईओ एसडी शिबू लाल को बुधवार को महत्वाकांक्षी योजना मिशन कर्मयोगी के तहत नौकरशाही में बड़े सुधार लाने में सरकार की मदद करने के लिए गठित तीन सदस्यीय टास्क फोर्स का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

इंफोसिस के पूर्व सीईओ के अलावा गोविंद अय्यर और पंकज बंसल होंगे टास्क फोर्स के सदस्य

कार्मिक मंत्रालय के आदेश के मुताबिक, शिक्षालोकम के संस्थापक और इंफोसिस लिमिटेड के संस्थापक व पूर्व सीईओ लाल के अलावा वैश्विक प्रबंधन परामर्श समूह एगान जेंडर में सलाहकार गोविंद अय्यर, एचआर टेक कंपनी पीपुलस्ट्रांग के सह-संस्थापक और ग्रुप सीईओ पंकज बंसल इस टास्क फोर्स के सदस्य होंगे।

क्षमता निर्माण आयोग के नामित अध्यक्ष होंगे विशेष आमंत्रित

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग में क्षमता निर्माण आयोग के नामित अध्यक्ष आदिल जैनुलभाई टास्क फोर्स की चर्चा में विशेष आमंत्रित शख्सियत होंगे।

मिशन कर्मयोगी: देश की सभी सिविल सेवाओं में आमूलचूल बदलाव लाने के लिए सरकार ने दी मंजूरी

केंद्र ने हाल ही में देश में सभी सिविल सेवाओं के लिए नियम आधारित प्रशिक्षण से भूमिका-आधारित क्षमता विकास में आमूलचूल बदलाव लाने के लिए नेशनल प्रोग्राम फार सिविल सर्विसेज कैपासिटी बिल्डिंग-मिशन कर्मयोगी को मंजूरी प्रदान की है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.