केरल से हैं कोरोना के 68 फीसद से ज्यादा मामले, आने वाले त्योहारों को लेकर सरकार ने किया अलर्ट

कोरोना के मौजूदा मामलों की जानकारी देते हुए भूषण ने कहा कि केरल एकमात्र ऐसा राज्य है जिसमें 1 लाख से ज्यादा सक्रिय मामले हैं। मिजोरम महाराष्ट्र कर्नाटक तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश ऐसे राज्य हैं जिसमें कोरोना के सक्रिय मामले 10000 से 1 लाख के बीच हैं।

Dhyanendra Singh ChauhanThu, 16 Sep 2021 04:36 PM (IST)
देश में 32 जिले ऐसे हैं जहां 5-10 फीसद के बीच साप्ताहिक पाजिटिविटी दर

नई दिल्ली, एएनआइ। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 30,570 नए मामले सामने आए। इनमें से 68 फीसदी मामले केरल से सामने आए हैं। बाकी राज्यों में अभी भी कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। कोरोना के मौजूदा मामलों की जानकारी देते हुए भूषण ने कहा कि केरल एकमात्र ऐसा राज्य है जिसमें 1 लाख से ज्यादा सक्रिय मामले हैं। मिजोरम, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश ऐसे राज्य हैं जिसमें कोरोना के सक्रिय मामले 10,000 से 1 लाख के बीच हैं।

उन्होंने कहा कि देश में कोरोना के मामलों की पाजिटिविटी दल लगातार कम हो रही है। साप्ताहिक पाजिटिविटी दर पिछले 11 सप्ताह से लगातार 3 फीसद से कम बनी हुई है। देश में 34 जिले ऐसे हैं जहां 10 फीसद से अधिक साप्ताहिक पाजिटिविटी दर है, 32 जिले ऐसे हैं जहां 5-10 फीसद के बीच साप्ताहिक पाजिटिविटी दर है।

आइसीएमआर के महानिदेशक डाक्टर बलराम भार्गव ने कहा कि त्योहार निकट आ रहे हैं और किसी भी जगह जनसंख्या घनत्व में अचानक वृद्धि से वायरस के प्रसार के लिए अनुकूल वातावरण बनता है। इसलिए हमें कोरोना संक्रमण के बचावों पर खास ध्यान में रखना होगा। इसके साथ ही नीति आयोग के स्वास्थ्य सदस्य डाक्टर वीके पाल ने बताया कि मिजोरम चिंता का विषय है। आने वाले 2-3 महीनों में हमें किसी भी तरह के कोरोना के मामलों में वृद्धि के प्रति सावधानी बरतनी होगी। हम सभी से आने वाली तिमाही में सावधान रहने का अनुरोध करते हैं। 

देश में शुरू किए जा रहे 3631 PSA प्लांट

वहीं, कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए केंद्र सरकार पूरी तैयारी के साथ जुटी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि देश में 3631 PSA (Pressure Swing Adsorption) प्लांट शुरू किए जा रहे हैं। ये 4500 मीट्रिक टन मेडिकल आक्सीजन उपलब्ध करा पाएंगे। इसमें केंद्रीय संसाधनों से 1491 प्लांट और राज्यों और अन्य संसाधनों से 2140 प्लांट तैयार किए जा रहे हैं।

देश के इन राज्यों में बढ़ रहे डेंगू के मामले

कोरोना के साथ ही कई राज्यों में डेंगू के बुखार ने चिंता बढ़ा दी है। स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि जब कहीं भी पानी जमा हो जाता है तो यह डेंगू के प्रकोप के लिए जिम्मेदार एडीज मच्छरों को जन्म देता है। उन्होंने कहा कि हमें दिल्ली, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, यूपी, गुजरात और असम में डेंगू फैलने की रिपोर्ट मिली है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.