Coronavirus India News: कोरोना के बढ़ते मरीजों के बीच देश में चार गुना बढ़ाई गई ऑक्सीजन सप्लाई

फरवरी के अंत से अब तक बढ़ाई गई ऑक्सीजन सप्लाई

ऑक्सीजन समेत अस्पतालों में बिस्तर और ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए केंद्र सरकार ने कई कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस महामारी को लेकर डॉक्टरों व फर्मा कंपनियों के साथ बैठक की ताकि इससे बचाव के लिए रणनीति तैयार की जा सके।

Monika MinalTue, 20 Apr 2021 11:55 AM (IST)

नई दिल्ली, एएनआइ। फरवरी के अंतिम सप्ताह की तुलना में अप्रैल के इस सप्ताह में ऑक्सीजन सप्लाई को करीब चार गुना बढ़ा दिया गया है। सरकारी सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मंगलवार को दी गई। महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर को झेल रहे देश में बिस्तर, दवाएं, टेस्टिंग और ऑक्सीजन तक की किल्लत है। 

आंकड़ों के अनुसार फरवरी के अंतिम सप्ताह में 1,273 मीट्रिक टन/ प्रतिदिन  ऑक्सीजन सप्लाई थी जो 17 अप्रैल को 4,739 मीट्रिक टन/ प्रतिदिन हो गई। देशभर में ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए रेलवे भी सामने आई। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने देशभर में ट्रेनों के जरिए लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर डिलिवरी की बात कही।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से भी यह जानकारी दी गई है कि 162 अतिरिक्त ऑक्सीजन प्लांट को मंजूरी दी जा चुकी है राज्यों ने केंद्र से 100 से अधिक प्लांट के लगवाने का आग्रह किया है। ICMR के महासचिव डॉक्टर बलराम भार्गव ने सोमवार को कहा था कि कोविड-19 संक्रमण के दूसरी लहर में  ऑक्सीजन की खपत बढ़ जाएगी।  

केंद्र सरकार ने रविवार को आदेश जारी कर अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई बढ़ाने के लिए उद्योगों को ऑक्सीजन देने पर रोक लगा दी है। इसके तहत केवल 9 उद्योगों को ही ऑक्सीजन सप्लाई जारी रहेगी। इसमें इंजेक्शन और वैक्सीन की शीशी बनाने वाली यूनिट्स, फार्मास्यूटिकल कंपनियां, पेट्रोलियम रिफाइनरी, स्टील प्लांट, न्यूक्लियर एनर्जी प्लांट, ऑक्सीजन सिलेंडर बनाने के प्लांट, वेस्ट वाटर को शुद्ध करने की यूनिट, भोजन और पानी को साफ करने वाली यूनिट​​​​ और​​फर्नेस प्रोसेस करने वाली यूनिट शामिल हैं।

बता दें कि कोविड-19 संक्रमण के प्रकोप को देखते हुए देश की राजधानी  दिल्ली में 6 दिन का लॉकडाउन लागू कर दिया गया है जिसके कारण सोमवार शाम से सैंकड़ों प्रवासी मजदूरों की भीड़  ने अपने गृह प्रदेशों की राह ले ली। देश में आज सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटों में  2.73 लाख से अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं। 

 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.