जानें, कोरोना की वैक्सीन पर संयुक्त राष्ट्र के मंच से क्या बोले पीएम मोदी

संयुक्त राष्ट्र के मंच से कोरोना वैक्सीन को लेकर PM मोदी का भाषण>
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 11:19 AM (IST) Author: Shashank Pandey

नई दिल्ली, एजेंसियां। दुनियाभर में बीते 8-9 महीनों से जारी कोरोना महामारी का संकट तेजी से गहराता जा रहा है। भारत में बीते 6 महीनों से लॉकडाउन जैसे हालात हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र के मंच से कोरोना महामारी को लेकर कई बातें कीं। पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के मंच से कोरोना की वैक्सीन पर अपने विचार रखे। पीएम मोदी ने कहा कि भारत, दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता देश है, ऐसे में भारत दुनिया को कोरोना संकट से उबारने में अहम भूमिका निभाएगा।

कोरोना वैक्सीन के निर्माण का दिया भरोसा 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) में दिए गए अपने भाषण में कोरोना वायरस से लड़ने में विश्व बिरादरी को भारत की तरफ से दिए गए सहयोग का जिक्र किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने यह आश्वासन दिया कि दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता के तौर पर भारत अपनी भूमिका निभाने को तैयार है।

उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता के तौर पर मैं यह आश्वासन देना चाहता हूं कि वैक्सीन तैयार करने और इसे पहुंचाने की भारत की क्षमता दुनिया को इस महामारी से निकालने में मददगार साबित होगी। उन्होंने बताया कि भारत में स्वदेशी वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल जारी है। प्रधानमंत्री ने साथ ही कहा कि भारत तमाम देशों को वैक्सीन पहुंचाने के लिए कोल्ड स्टोरेज बनाने व स्टोरेज क्षमता बनाने में मदद करेगा।

संकट की घड़ी में भारत की मदद को याद दिलाया

पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र को दिए अपने संबोधन में कहा कि कोरोना संकट की इस मुश्किल घड़ी में भी भारत की फार्मा कंपनियों ने 150 से अधिक देशों को दवाइयां भेजीं। उन्होंने कहा कि सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक देश होने के नाते मैं वैश्विक समुदाय को एक आश्वास देना चाहता हूं कि भारत की वैक्सीन निर्माता और वैक्सीन डिलीवरी क्षमता से पूरी दुनिया को इस संकट से बाहर निकालने में काम आएगी।

जल्द शुरू होगा कोरोना वैक्सीन के आखिरी चरण का ट्रायल

भारत में कोरोना की वैक्सीन का तीसरा और आखिरी चरण का ट्रायल जल्द शुरू होने जा रहा है। भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन कोवाक्सिन(COVAXIN) का तीसरे चरण का ट्रायल जल्द लखनऊ और गोरखपुर में शुरू होने जा रहा है। भारत बायोटेक ने वैक्सीन परीक्षण का प्रोटोकॉल साझा किया है। वैक्सीन का ट्रायल 18 से 59 वर्ष व 60 वर्ष के लोगों पर किया जाएगा।

केंद्र सरकार कोरोना से निजात के लिए वैक्सीन बनाने में पूरी ताकत झोंके हुए है। इसके लिए देश-विदेश में कई प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इधर, भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड की वैक्सीन का ट्रायल तीसरे चरण में पहुंच गया है। भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) व राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआइवी) के साथ मिलकर पहला स्वदेशी टीका 'कोवैक्सीन' तैयार किया है। फिलहाल दो चरण के ट्रायल किए जा चुके हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.