हेलीकाप्टर क्रैश: जानें वो बड़े हवाई हादसे, जिनका शि‍कार हुईं प्रमुख भारतीय हस्‍तियां

सीडीएस जनरल बिपिन रावत को ले जाने वाला हेलीकाप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले कई हाई-प्रोफाइल राजनेताओं और प्रमुख हस्तियां इसी तरह की हवाई दुर्घटनाओं में मौत हो चुकी हैं। इनमें संजय गांधी माधवराव सिंधिया समेत कई बड़े नाम शामिल हैं।

Amit SinghWed, 08 Dec 2021 08:32 PM (IST)
कुछ प्रमुख भारतीय जो हवाई दुर्घटनाओं में मारे गए

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क: सीडीएस जनरल बिपिन रावत की बेवक्त मौत से पूरा देश सकते में है। तमिलनाडु के कुन्नूर में क्रैश हुए एमआई17 वी5 हेलीकाप्टर हादसे में कुल 13 लोगों की मौत की पुष्टी की गई है। वहीं गंभीर रूप से घायल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का सेना के एक अस्पताल में इलाज जारी है। हादसे के वक्त सीडीएस रावत की पत्नी मधुलिका रावत भी उनके साथ मौजूद थी। यह पहली घटना नहीं है जब किसी विशिष्ट व्यक्ति की हवाई दुर्घटना में मौत हुई है। पहले भी कई दिल दहला को देनेवाले हादसे हो चुके हैं।

सुभाष चंद्र बोस: नेता जी की मौत के कारणों के पीछे विवाद के बावजूद, यह एक लोकप्रिय धारणा है कि स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की 1945 में ताइवान में एक हवाई दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी।

संजय गांधी: देश की तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी के छोटे बेटे संजय गांधी की 23 जून 1980 में एक हवाई दुर्घटना में मौत हो गई थी। संजय गांधी दिल्ली फ्लाइंग क्लब का नया विमान उड़ा रहे थे, जो दिल्ली के सफदरजंग हवाई अड्डे से उड़ान भरने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

माधवराव सिंधिया : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माधवराव सिंधिया की 30 सितंबर 2001 को एक विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी। यह हादसा यूपी के मैनपुरी जिले की भोगांव तहसील के पास हुआ था। सिंधिया एक सभा को संबोधित करने के लिए कानपुर जा रहे थे, उन्होंने जिंदल ग्रुप के 10 सीटों वाले एक चार्टर्ड विमान सेस्ना सी-90 ने नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से उड़ान भरी थी। उनके साथ 7 अन्य लोगों की भी मौत हुई थी।

वाई.एस. राजशेखर रेड्डी: 2 सितंबर 2009 को आंध्रप्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री वाई.एस. राजशेखर रेड्डी समेत 4 अन्य लोग को लेकर उड़ा हेलीकॉप्टर नल्लामाला वन क्षेत्र में लापता हो गया था। सेना की मदद से दुर्घटनाग्रस्त हेलीकाप्टर को खोजा गया था। 3 सितंबर को हेलीकाप्टर का मलवा कुरनूल से 74 किलोमीटर दूर रूद्रकोंडा की पहाड़ी पर मिला था।

ओपी जिंदल और सुरेंद्र सिंह: प्रसिद्ध उद्योगपति और हरियाणा के बिजली मंत्री ओपी जिंदल की 2005 में दिल्ली से चंडीगढ़ जाते समय एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी। जिंदल के साथ, राज्य के कृषि मंत्री और पूर्व सीएम बंसी लाल के बेटे सुरेंद्र सिंह की भी उसी दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी।

दोरजी खांडू: अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री दोरजी खांडू की मई 2011 में भारत-चीन सीमा के पास तवांग से लगभग 30 किमी दूर राज्य के एक सुदूर गाँव में एक हेलीकाप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो गई। पांच दिन बाद गहन खोज और बचाव अभियान के बाद खांडू का शव मिला। दस साल पहले, अरुणाचल के मंत्री डेरा नाटुंग और पांच अन्य लोग मारे गए थे, जब उनका पवन हंस विमान मई 2001 में तवांग के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

जमील महमूद : भारतीय सेना के वरिष्ठ अधिकारी के साथ आखिरी बड़ा हवाई हादसा साल 1993 में हुआ था। पूर्वी कमान के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल जमील महमूद की भारतीय वायुसेना के ही एमआई-17 हेलीकाप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद मौत हो गई थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.