महामारी के बीच भारी बारिश और बाढ़ ने देश में मचाई तबाही, कहीं बाढ़ तो कहीं भूस्खलन; जानें प्रभावित राज्यों के हाल

देश के पश्चिम और दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़ ने तबाही मचा रखी है। गोवा में भी भारी बारिश के कारण एक महिला की मौत भी हो चुकी है। महाराष्ट्र तेलंगाना आंध्र प्रदेश कर्नाटक समेत कई देश इस वक्त बाढ़ की चपेट में हैं।

Monika MinalSat, 24 Jul 2021 11:12 AM (IST)
देश के दक्षिण पश्चिम हिस्से में बाढ़ का प्रकोप

नई दिल्ली, एजेंसियां। भारत में हो रही भारी बारिश के कारण भूस्खलन व दुर्घटनाओं के बाद शनिवार को राहत व बचाव कार्य की पूरी टीम मलबे के नीचे दबे दर्जनों घरों से लोगों को निकालने में जुटी रही। चार दशकों के बाद महाराष्ट्र ने जुलाई में इतनी भारी बारिश का सामना किया है। कई दिनों से हो रही बारिश के कारण हजारों लोग प्रभावित हुए हैं।  NDRF के DIG मोहसिन शाहिदी ने शुक्रवार को बताया, 'पिछले 2 दिनों में भारी बारिश के कारण महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के कई हिस्से बाढ़ से प्रभावित हैं। महाराष्ट्र में हमारी 18 टीम राहत एवं बचाव अभियान में लगी हैं। उड़ीसा से 8 अतिरिक्त टीमों को एयरलिफ्ट करके महाराष्ट्र भेजा जा रहा है।'

अभी देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप से निकलने की कोशिश से जूझ ही रहा है और कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़ के हालात बन गए हैं। देश के पश्चिम और दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश के कारण बाढ़  ने तबाही मचा रखी है। गोवा में भी भारी बारिश के कारण एक महिला की मौत भी हो चुकी है। महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक समेत कई देश इस वक्त बाढ़ की चपेट में हैं।

डूब चुके हैं तेलंगाना के कई गांव

पिछले कई दिनों से हो रही बारिश के कारण तेलंगाना के कई गांव पूरी तरह से पानी में डूब चुके हैं। इस क्रम में घरों में फंसे लोगों को निकालने के लिए NDRF की टीम को लगाया गया है। कुमुराम भीम, जगतियाल, वारंगल में रेड अलर्ट है वहीं राज्य के नौ जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी है। गुरुवार को मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने चीफ सेक्रेटरी सोमेश कुमार को निर्मल टाउन में एनडीआरएफ टीमों को तैनात करने का निर्देश दिया था।

महाराष्ट्र में हुई 100 से अधिक लोगों की मौत 

महाराष्ट्र में बाढ़ के कारण अब तक कुल 129 लोगों की मौत हो चुकी है। भूस्‍खलन और बाढ़ के कारण रायगढ़, रत्नागिरी एवं सतारा में हुई इन घटनाओं में कई लोग अब भी मलबे में दबे हुए हैं। एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) की टीम रत्नागिरी जिले के बाढ़ प्रभावित निचले चिपलूण इलाके में बचाव और राहत अभियान चला रही है। भारी बारिश के बाद महाराष्ट्र के कई हिस्सों में सड़कें जलमग्न हो चुकी हैं एनडीआरएफ लोगों के बीच भोजन वितरित कर रही है।

कर्नाटक में भूस्खलन, कई मौतें

वहीं कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में बीते 24 घंटे में भारी बारिश के कारण तीन मौतें दर्ज हुई हैं। यहां कई जगहों पर भूस्खलन भी हुआ है। इससे बचाव के क्रम में नौ हजार लोगों को सुरक्षित निकाला गया। सरकार ने सात जिलों के लिए 'रेड अलर्ट' जारी किया है। तेलंगाना में पिछले दो दिन से हो रही बारिश के चलते शुक्रवार को कई निचले इलाके जलमग्न हो गए और सड़क संपर्क प्रभावित रहा।

गोवा में क्षतिग्रस्त हो चुके हैं 1000 मकान

गोवा के निचले इलाकों से लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जाने लगा है। वहां भारी बारिश और नदियों का जलस्तर बढ़ने के बाद आई बाढ़ से संबंधित घटना में एक महिला की मौत हो गई और करीब 1,000 मकान क्षतिग्रस्त हो गए। यह बाढ़ राज्य में पिछले 40 साल में आई प्रलयकारी बाढ़ में एक है। इस बीच, मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों में अलग-अलग स्थानों के लिए भारी से बहुत भारी बारिश का पूर्वानुमान लगाते हुए दो 'रेड अलर्ट' जारी किए। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.