जानिए कौन हैं ट्विटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल, कुछ ऐसा रहा साफ्टवेयर इंजीनियर से CEO तक का सफर

पराग आइआइटी बांबे से स्नातक हैं और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में डाक्टरेट की डिग्री ली है। पराग अग्रवाल वर्ष 2011 से ट्विटर में काम कर रहे हैं। उस समय कंपनी में एक हजार से भी कम कर्मचारी थे।

Dhyanendra Singh ChauhanMon, 29 Nov 2021 10:44 PM (IST)
पराग अग्रवाल वर्ष 2011 से ट्विटर में काम कर रहे

नई दिल्ली, एजेंसियां। माइक्रो ब्लागिंग प्लेटफार्म ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डार्सी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। भारत के पराग अग्रवाल ट्विटर के नए सीईओ होंगे। पराग आइआइटी बांबे से स्नातक हैं और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में डाक्टरेट की डिग्री ली है। पराग अग्रवाल वर्ष 2011 से ट्विटर में काम कर रहे हैं। उस समय कंपनी में एक हजार से भी कम कर्मचारी थे। उन्होंने 2017 में कंपनी के सीटीओ (चीफ टेक्नोलाजी आफिसर) का पद संभाला।

ट्विटर में काम करने से पहले पराग माइक्रोसाफ्ट और याहू में काम कर चुके हैं। इस समय ग्लोबल टेक्नोलाजी कंपनियों में से अधिकांश की कमान भारतीय मूल के लोगों के हाथ में हैं। माइक्रोसाफ्ट के सीईओ सत्या नडेला हैं तो गूगल को सुंदर पिचाई चला रहे हैं। अब ट्विटर को पराग अग्रवाल आगे बढ़ाएंगे।

ट्विटर का नया सीईओ चुने जाने पर पराग अग्रवाल ने ट्वीट किया कि मैं सम्मानित और शुक्रगुजार हूं और मैं आपकी (जैक डार्सी) निरंतर सलाह और दोस्ती के लिए आभारी हूं। मैं आपके द्वारा बनाई गई इस सेवा और उद्देश्य के लिए आभारी हूं, जिन्होंने महत्वपूर्ण चुनौतियों के बीच कंपनी का नेतृत्व किया।

सीईओ बनने से पहले कंपनी में सीटीओ थे पराग अग्रवाल

बता दें कि ट्विटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल पिछले एक दशक से ट्विटर से जुड़े हुए हैं। पराग अग्रवाल ने आइआइटी बाम्बे से कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग में बीटेक की पढ़ाई की है और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पीएचडी की है। पराग अग्रवाल ने ट्विटर में इंजीनियर के तौर पर करियर की शुरुआत की थी और अब सीईओ का पद संभालने जा रहे हैं। सीईओ बनने से पहले अग्रवाल ट्विटर के चीफ टेक्नोलॉजी आफिसर (सीटीओ) थे। 

पहले ट्विटर में इन कामों को देखते थे पराग अग्रवाल

सीटीओ के रूप में पराग ट्विटर की तकनीकी रणनीति, उपभोक्ता और एआई की देखरेख का काम देखते थे। पराग अग्रवाल ट्विटर के ब्लूस्की का नेतृत्व कर रहे थे, जिसका उद्देश्य इंटरनेट मीडिया के लिए एक खुला और विकेंद्रीकृत मानक बनाना था।

इन कंपनियों में भी किया काम

ट्विटर से पहले पराग अग्रवाल ने माइक्रोसाफ्ट, याहू और एटीएंडटी लैब्स के साथ भी काम किया है। PeopleAI के अनुसार पराग अग्रवाल की अनुमानित कुल संपत्ति 1.52 मिलियन डालर है।

45 वर्षीय जैक डार्सी ने ट्वीट करके अपने इस्तीफे का एलान किया। उन्होंने लिखा, 'कंपनी में अंतरिम सीईओ से सीईओ तक की भूमिका निभाने के लगभग 16 वर्ष बाद मैंने फैसला किया है कि आखिरकार मेरे जाने का समय आ गया है। पराग अग्रवाल हमारे अगले सीईओ होंगे।'

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.