Video : वायुसेना ने बालाकोट एयर स्‍ट्राइक को इस तरह दिया था अंजाम, दूसरी वर्षगांठ पर किया अचूक प्रदर्शन

वायुसेना ने इस हमले की दूसरी वर्षगांठ पर इस एयर स्‍ट्राइक को अपने अंदाज में याद किया है।

भारतीय वायुसेना ने आज से दो साल पहले 26 फरवरी को पाकिस्‍तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर जोरदार एयर स्ट्राइक की थी। वायुसेना ने इस हमले की दूसरी वर्षगांठ पर इस एयर स्‍ट्राइक को अपने अंदाज में याद किया है।

Krishna Bihari SinghSat, 27 Feb 2021 07:08 PM (IST)

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। भारतीय वायुसेना ने आज से दो साल पहले 26 फरवरी को पाकिस्‍तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर जोरदार एयर स्ट्राइक की थी। वायुसेना ने इस हमले की दूसरी वर्षगांठ पर इसको अपने अंदाज में याद किया है। वायुसेना ने इस मौके पर लंबी दूरी के एक अभ्यास ठिकाने को ध्वस्त किया। इस स्ट्राइक की खास बात यह रही कि इसे स्क्वाड्रन के उन्हीं सदस्यों ने अंजाम दिया, जिन्होंने असल में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकियों के लांच पैड पर एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था।

अभ्‍यास का जारी किया वीडियो 

इस अभ्यास मिशन को राजस्थान के सेक्टर में अंजाम दिया गया। वायुसेना ने इस अभ्‍यास का वीडियो जारी किया है। सूत्रों ने बताया कि यह स्ट्राइक हाल ही में की गई थी। इस मौके पर शनिवार को वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने असल ऑपरेशन को अंजाम देने वाले स्क्वाड्रन के साथ मल्टी एयरक्राफ्ट सॉर्टी उड़ाया। सूत्रों ने बताया कि इस सॉर्टी में तीन मिराज-2000 और दो सुखोई-30एमकेआइ शामिल थे। भदौरिया ने मिराज-2000 उड़ाया। 

वायु सेना प्रमुख ने भरी उड़ान 

वहीं समाचार एजेंसी पीटीआइ ने बताया है कि वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया (Indian Air Force Chief RKS Bhadauria) ने इस अवसर पर उक्त स्क्वाड्रन में शामिल रहे पायलटों के साथ उड़ान भरी। भदौरिया ने पांच एयरक्राफ्ट मिशन के साथ श्रीनगर से उड़ान भरी थी। उस समय भी उनके साथ असल मिशन को अंजाम देने वाले वारियर ही थे। वायु सेना प्रमुख ने मिग-21 टाइप 69 विमान उड़ाया था।  

श्रीलंका में दमखम दिखाएंगे सूर्यकिरण, सारंग और तेजस

श्रीलंकाई वायु सेना के 70 साल पूरे होने पर कोलंबो में तीन से पांच मार्च के बीच आयोजित एयर शो में सूर्यकिरण, सारंग और हल्के लड़ाकू विमान तेजस भाग लेंगे। भारतीय वायु सेना ने शनिवार को यह जानकारी दी। समारोह में शामिल होने के लिए ये विमान शनिवार को ही कोलंबो पहुंच गए।

26 फरवरी 2019 को रचा था इतिहास 

मालूम हो कि 26 फरवरी 2019 को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने पाकिस्‍तान के बालाकोट में आतंकियों के ठिकाने पर ताबड़तोड़ बमबारी की थी। इससे पाकिस्‍तान हैरान हो गया था। भारत की ओर से साल 1971 के बाद पाकिस्‍तान में की गई पहली एयरस्‍ट्राइक थी। भारतीय सपूतों ने इस एयरस्‍ट्राइक के जरिए 14 फरवरी 2019 को हुए पुलवामा आतंकी हमले का बदला लिया था। 

पुलवामा हमले का लिया था बदला 

पुलवामा हमले के बाद थल सेना प्रमुख और वायुसेना प्रमुख ने साफ कर दिया था कि पाकिस्‍तान को इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। शुक्रवार को बालाकोट एयर स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के साहस और परिश्रम को सलाम करते हुए कहा था कि बालाकोट की सफलता ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने की भारत की दृढ़ इच्छाशक्ति को दिखाया है। वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि साल 2019 में आज ही के दिन भारतीय वायुसेना ने पुलवामा आतंकी हमले का जवाब देकर नए भारत की आतंकवाद के विरुद्ध अपनी नीति को पुनः स्पष्ट किया था।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.