दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

गर्भवती महिलाओं के लिए कितनी सुरक्षित है कोरोना की वैक्सीन, रिसर्च में किया गया बड़ा दावा

जानें, क्या गर्भवती महिलाएं लगवा सकती हैं कोरोना की वैक्सीन? (फोटो: दैनिक जागरण)

एक अध्ययन में पाया गया है कि गर्भावस्था में भी टीका हो सकता है सुरक्षित। गर्भवती महिलाओं के लिए कोरोना की वैक्सीन कितनी सुरक्षित हो सकती है इसको लेकर भी इस अध्ययन में कई बड़े दावे किए गए हैं। आइए जानते हैं अध्ययन में क्या सामने आया है।

Shashank PandeyThu, 13 May 2021 08:32 AM (IST)

नई दिल्ली, एजेंसी। गर्भवती महिलाओं के लिए भी कोरोना रोधी वैक्सीन सुरक्षित हो सकती है। एक अध्ययन में पाया गया है कि वैक्सीन से गर्भ में पल रहे बच्चे के नाल को नुकसान नहीं पहुंचता है। मंगलवार को अब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनकोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित अपने तरह के इस पहले अध्ययन से इसको और बल मिला है कि गर्भावस्था के दौरान कोरोना रोधी वैक्सीन लगवाना सुरक्षित है।

अमेरिका की नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के फिनबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन में असिस्टेंट प्रोफेसर जेफरी गोल्डस्टीन ने कहा, 'नाल हवाई जहाज के ब्लैक बॉक्स की तरह होता है। गर्भावस्था के दौरान अगर कुछ ग़़डब़़डी होती है तो आमतौर पर नाल में बदलाव देखने को मिलता है जिससे हम ग़़डब़़डी का पता लगा सकते हैं।' उन्होंने कहा कि हम कह सकते हैं कि कोरोना वैक्सीन नाल को नुकसान नहीं पहुंचाती है। शोधकर्ताओं ने माना कि वैक्सीन को लेकर खासकर गर्भवती महिलाओं में हिचक है।

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर और अध्ययन रिपोर्ट की सह लेखक एमिली मिलर ने कहा, 'हमारी टीम को उम्मीद है कि ये आंकड़े, जो अभी प्रारंभिक हैं, गर्भावस्था के दौरान वैक्सीन लेने से जुड़ी चिंताएं कम कर सकते हैं।' अमेरिका के शिकागो शहर के एक अस्पताल में बच्चों को जन्म देने वाली टीका लगवाने वाली 84 गर्भवती और बिना टीका लगाए 116 गर्भवती महिलाओं पर यह अध्ययन किया गया। इनमें से ज्यादातर महिलाओं ने गर्भावस्था के दौरान फाइजर या मॉडर्ना की वैक्सीन लगवाई थीं।

अगर आप इंतज़ार करने का फैसला लेती हैं तो ध्यान रखें

याद रखें, अगर आप वैक्सीन नहीं लगवाती हैं, जो एक व्यक्तिगत फैसला है, तो आपके संक्रमित होने का जोखिम बड़ा होता है। अगर आप गर्भवती हैं, तो ये जोखिम और बढ़ जाता है। अब तक हुए शोध में से कुछ का मानना है कि गर्भवती महिला वायरल को अपने नवजात बच्चे को भी दे सकती है, वहीं कुछ शोध ने इस बात को ग़लत बताया है।  ऐसे में इसको लेकर और शोध किए जा रहे हैं। आने वाले वक्त में इसको लेकर तस्वीर और साफ होगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.