जानिए- भारतीय वायुसेना के Mi-17V5 हेलीकाप्टर के बारे में, इसी चॉपर में ही सवार थे बिपिन रावत

Mi-17 V5 एक मिडियम लिफ्ट हेलीकाप्टर है जिसे जवानों और आर्म ट्रांसपोर्ट फासर सपोर्ट और खोजने और बचाने के मिशन के लिए डिजाइन किया गया है। ऐसा पहली बार नहीं है जब Mi-17V5 क्रैश हुआ हो। पहले भी कई घटनाएं हुई हैं और उनमें भारी नुकसान भी उठाना पड़ा है।

Nitin AroraWed, 08 Dec 2021 02:28 PM (IST)
कैसा है भारतीय वायुसेना का Mi-17V5 हेलीकाप्टर? जानें- बार-बार क्रैश हो रहे इस ताकतवर चोपर के बारे में

नई दिल्ली, एजेंसी। तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को एक बड़ा हादसा हुआ है। यहां भारतीय वायुसेना का Mi-17V5 हेलीकाप्टर क्रैश हुआ है। इसमें सीडीएस बिपिन रावत समेत 14 लोग सवार थे। इस हादसे में अब तक कई लोगों के मरने की भी खबर सामने आई है। दिल्ली से सुलूर जा रहा था भारतीय वायुसेना का यह हेलीकाप्टर। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है, जब सेना का खास Mi-17 सीरीज का प्लेन क्रैश हुआ हो। पिछले महीने ही Mi-17 अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इससे पहले भी कई घटनाएं हुई हैं और उनमें भारी नुकसान भी उठाना पड़ा है।

Mi-17 V5 के बार में

Mi-17 V5, एक मीडियम लिफ्ट हेलिकाप्टर है जिसे जवानों और आर्म ट्रांसपोर्ट, फासर सपोर्ट और खोजने और बचाने के मिशन के लिए डिजाइन किया गया है। बता दें कि दुर्घटनाग्रस्त विमान Mi-17 V5 भारतीय वायुसेना का काफी ताकतवर हेलीकाप्टर माना जाता है। इसमें दो इंजन है और देश की बड़ी शख्सियत इस हेलीकाप्टर का इस्तेमाल करते रहे हैं, यहां तक कि प्रधानमंत्रियों द्वारा भी इसको इस्तेमाल में लिया जाता रहा है। हेलीकाप्टर Mi-17 V5 आधुनिक तकनीकों से लैस होता है। यह हेलीकाप्टर वायु सेना के कई महत्वपूर्ण अभियानों का हिस्सा भी रहा है।

भारतीय वायु सेना का हेलीकाप्टर Mi-17V-5 एक मिलिट्री परिवहन है। बता दें कि इन विमानों के निर्माण की जिम्मेदारी रूस के पास है और विश्व के सबसे आधुनिक हेलीकाप्टरों में इसका नंबर आता है। इसको सेना और आर्म्स परिवहन में भी तैनात किया जाता है। साथ ही चाहे सर्च आपरेशन हो या राहत बचाव का कार्य हो, उन सभी अभियानों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

एक नजर खासियत पर

इस हेलीकाप्टर की अधिकतम रफ्तार 250 किमी/घंटा है और यह 6000 मीटर तक की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। एक बार ईंधन डालने के बाद यह 580 किमी. तक सफर कर सकता है।

चोपर अधिकतम 13,000 किलो के वजन के साथ उड़ान भर सकता है। इसमें करीब 36 आर्म्ड जवानों को ले जाया जा सकता है।

MI-17V5 कई तरह से हथियारों से लैस होता है। इसमें शतर्म-5 मिसाइल्स, एस-8 राकेट, एक 23 मिमी मशीन गन, पीकेटी मशीन गन्स के साथ 8 फायरिंग पोस्ट्स भी हैं। इनसे लक्ष्य साधने में ध्यान लगाया जाता है।

इस हेलीकाप्टर में ऐसी तकनीक भी है, जिससे यह रात में भी आसानी से कार्रवाई कर सकता है। बता दें कि मुंबई 26/11 हमले के दौरान कमांडो आपरेशन में भी इसका यूज हुआ था। वहीं, पाकिस्तानी लांच पैड को तबाह करने व सर्जिकल स्ट्राइक जैसे बड़े अभियान में इसका योगदान रहा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.