top menutop menutop menu

Weather Update: मुंबई में मूसलाधार बारिश, समुद्र में हाई टाइड; अलर्ट जारी

नई दिल्ली, एजेंसी। भारत के मानसून ने तेज रफ्तार पकड़ ली है। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिम-मध्य और बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती क्षेत्र बना हुआ है। जिसकी वजह से देश के ज्यादातर हिस्से में गरज के साथ बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 4-5 दिनों में मध्य और उत्तर भारत के अधिकतर इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।

मुंबई पूरी तरह मॉनसून (Monsoon) की चपेट में है। मुंबई के ज्यादातर इलाकों में शनिवार से ही रुक-रुककर बारिश हो रही है। रविवार सुबह कुछ देर के लिए बारिश रुकी लेकिन चंद घंटे में ही बारिश ने फिर रफ्तार पकड़ ली है। चेंबूर और अंधेरी के कई इलाकों में भारी जलजमाव हो गया है। जलभराव की वजह से खार सबवे को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। मौसम विभाग ने रविवार को भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मुंबई के समंदर में हाई टाइड

मुंबई में भारी बारिश (Heavy Rain) और जलभराव के बीच समंदर में हाई टाइड की लहरें उठीं। मुंबई में पहले ही चेतावनी जारी की गई थी कि आज दोपहर 12.23 बजे समंदर में 4.63 मीटर तक लहरें उठ सकती हैं। बता दें कि शनिवार को भी मुंबई के समंदर में हाई टाइड आया था। हाई टाइड में समंदर की लहरों ने उफान भरा था। जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह करीब 11.30 बजे समंदर में 4.57 मीटर तक ऊंची लहरें उठी थीं।

मुंबई में बारिश के बाद कई जगह जलजमाव

मुंबई में पिछले 48 घंटे में हुई बारिश (Rain) से मुंबई पानी-पानी है। मुंबई में मूसलाधार बारिश के बाद कम से कम 10 ऐसे इलाके हैं, जहां भारी जलजमाव है। इसकी वजह से कई रास्तों पर ट्रैफिक पर भी असर पड़ा है। सड़क पर पानी भरने की वजह से कई गाड़ियां बीच सड़क पर ही खड़ी हो गईं। सायन में तो पुलिस चौकी ही जलमग्न हो गई। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को मुंबई में करीब 82 मिमी बारिश दर्ज की गई। इसकी वजह से शहर के 10 इलाकों में जबरदस्त वॉटरलॉगिंग है।

दिल्ली में 3-4 दिन हल्की बारिश की उम्मीद

वहीं दिल्ली में रात में जमकर बारिश हुई। दिल्ली में रात में बिजली चमकने, बादल गरजने के साथ-साथ आंधी भी चली और खूब बारिश भी हुई। मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में आज पूरे दिन हल्की बारिश जारी रह सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी दिल्ली में अगले तीन-चार दिन ऐसे ही आसमान में बादल छाये रहने और हल्की बारिश होने की उम्मीद है। बारिश होने से दिल्ली में पारा नीचे लुढ़क गया है और मौसम सुहाना हो गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने मध्यरात्रि के आसपास से ही हल्की बारिश की उम्मीद जताई थी।

#WATCH मध्य प्रदेश: भोपाल में भारी बारिश हुई। pic.twitter.com/Hbb9LIWDpo

— ANI_HindiNews (@AHindinews) July 5, 2020

बिहार में बिजली गिरने से 20 लोगों की मौत, अब तक 130 मरे

बिहार के पांच जिलों में आकाशीय बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में शनिवार को 20 लोग की मौत हो गई। राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त सूचना के अनुसार, राज्य में आकाशीय बिजली गिरने से 20 लोग की मौत हुई है। सबसे ज्यादा भोजपुर में नौ लोगों की की मौत हुई है, वहीं सारण में पांच, कैमूर में तीन, पटना में दो और बक्सर में एक व्यक्ति की मौत हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने राज्य के लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। राज्य में पिछले 10 दिनों में आकाशीय बिजली गिरने से 130 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। बिहार के कई जिलों में आज भी भारी बारिश का अनुमान बताया जा रहा है।

इन जगहों पर आज बारिश के आसार

मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु, रायलसीमा, आंतरिक कर्नाटक, विदर्भ, मराठवाड़ा, मध्य प्रदेश के शेष भागों, दक्षिण-पूर्वी राजस्थान, शेष गुजरात, उत्तराखंड, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, पूर्वी राजस्थान और पश्चिमी हिमालय के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। छत्तीसगढ़, दक्षिण और दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर भारत, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में हल्की से मध्यम वर्षा के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। बिहार में भी तेज़ बारिश के आसार है। अगले कुछ घंटों के दौरान मॉनसून की व्यापक सक्रियता उत्तरी कोंकण-गोवा और दक्षिणी गुजरात में दिखेगी जहां मूसलाधार बारिश होने की संभावना है। दक्षिणी कोंकण गोवा, तटीय कर्नाटक और उत्तरी केरल में भी मध्यम से भारी वर्षा के आसार हैं।

गर्मी से बेहाल था उत्‍तर भारत

उत्तर भारत में खासकर राजस्थान के पश्चिमी इलाके श्रीगंगानगर और बीकानेर इलाके में तापमान 43-45 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच था। दिल्‍ली में भी पारा कई बार 42 डिग्री के पार गया। उधर, पंजाब हरियाणा में भी मौसम शुष्क बना हुआ था। मौसम विभाग ने 4-5 जुलाई से मौसम बदलने का अनुमान लगाया था। बारिश की शुरुआत होने पर अगले चार-पांच दिनों तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा, जिससे तापमान में दो से चार डिग्री सेंटीग्रेड तक की गिरावट आ सकती है।

भारी बारिश ने कुछ राज्‍यों में पैदा की मुसीबत

भारी बारिश से लोगों को जहां गर्मी से राहत मिली है। वहीं, कुछ राज्‍यों में इससे बड़ी जनहानि हुई है। बिहार में गुरुवार से लेकर शनिवार के बीच, आसमान से बिजली गिरने (वज्रपात) से 61 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, उत्तर प्रदेश में भी शनिवार को जोरदार बारिश के बीच आसमान से बिजली गिरने से अलग-अलग जिलों में 18 लोगों की मौत हो गई। असम में भी बाढ़ से हालात बेहद खराब हो चले हैं। राज्‍य के 33 में से 21 जिलों के लगभग 15 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। शनिवार तक वहां 33 लोगों की मौत हो चुकी थी। 

असम में बाढ़ से अब तक 61 की मौत

असम के 18 जिले भीषण बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। बाढ़ से और दो लोगों की मौत हो गई है और 10.75 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा है कि मोरीगांव और तिनसुकिया जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। राज्य में अब तक बाढ़ से 61 लोगों की मौत हुई है और 24 लोगों की मौत भूस्खलन से हुई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.