भारत में कोरोना की तीसरी लहर किस वजह से दे सकती है दस्‍तक, केंद्र सरकार ने संसद में दी जानकारी

केंद्र सरकार ने लोकसभा में कहा है कि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर या तो वायरस में बदलाव की वजह से या अतिसंवेदनशील आबादी के कारण आ सकती है। सरकार ने यह भी कहा कि यह महामारी के प्रबंधन के लिए विभिन्न औषधीय और गैर-औषधीय उपायों पर भी निर्भर है।

Krishna Bihari SinghFri, 23 Jul 2021 09:58 PM (IST)
कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर वायरस में बदलाव की वजह से आ सकती है।

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। केंद्र सरकार ने लोकसभा में कहा है कि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर या तो वायरस में बदलाव की वजह से या अतिसंवेदनशील आबादी के कारण आ सकती है। सरकार ने यह भी कहा कि यह महामारी के प्रबंधन के लिए विभिन्न औषधीय और गैर-औषधीय उपायों पर भी निर्भर है। एक सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि टीकाकरण रोग को गंभीर होने से बचाता है और प्रतिरक्षा में भी मददगार है। यह भविष्य में भी महामारी के प्रभाव को कम करने में मददगार होगा। 

पर्याप्त सुरक्षा देते हैं देश में उपलब्‍ध टीके

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने यह भी कहा कि देश में टीकाकरण के लिए इस्‍तेमाल किए जा रहे टीके संक्रमण के खिलाफ पर्याप्त सुरक्षा देते हैं। ये अस्पताल में भर्ती होने के मामलों को रोकने में सहायक हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा डेल्टा वैरिएंट के रूप में कोरोना की तीसरी लहर आने को लेकर चेतावनियों पर मंडाविया ने स्पष्ट किया कि भारत या विश्व स्तर पर कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि यह बड़ी संख्‍या में बच्‍चों को संक्रमित करती है। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में कोरोना की कई लहरें देखी गई हैं।

67.6 फीसद व्यक्तियों में पाई गई कोरोना एंटीबाडी

वहीं लोकसभा में स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण को पूरा करने की कोई निश्चित समय सीमा तय नहीं की जा सकती है लेकिन इस साल दिसंबर इसके पूरा होने जाने की उम्मीद है। उन्‍होंने यह भी बताया कि चौथे सीरो सर्वे में छह साल से अधिक उम्र के 67.6 फीसद व्यक्तियों में कोरोना एंटीबाडी पाई गई है। यह सीरो सर्वे 14 जून से छह जुलाई के बीच देश के 20 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के 70 जिलों में कराया गया था।  

सक्रिय मामलों में गिरावट 

वहीं केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक कोरोना महामारी की दूसरी लहर में पिछले एक दिन में सक्रिय मामलों में 3,881 की गिरावट आई है और कुल एक्टिव केस 4,05,513 रह गए हैं, जो कुल मामलों का 1.3 फीसद है। इस दौरान 35,342 केस पाए गए हैं, जबकि एक दिन पहले 40 हजार से ज्यादा नए मामले मिले थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक दैनिक और साप्ताहिक संक्रमण दर पांच फीसद से नीचे बने हुए हैं।

देश में कोरोना की स्थिति

24 घंटे में नए मामले 35,342 कुल सक्रिय मामले 4,05,513 24 घंटे में टीकाकरण 54.76 लाख कुल टीकाकरण 42.34 करोड़

सुबह आठ बजे तक कोरोना की स्थिति

नए मामले 35,342 कुल मामले 3,12,93,062 सक्रिय मामले 4,05,513 मौतें (24 घंटे में) 483 कुल मौतें 4,19,470 ठीक होने की दर 97.36 फीसद मृत्यु दर 1.34 फीसद पाजिटिविटी दर 2.12 फीसद सा. पाजिटिविटी दर 2.14 फीसद जांचें (गुरुवार) 18,68,561 कुल जांचें 45.29 करोड़

शुक्रवार शाम सात बजे तक किस राज्य में कितने टीके

उत्तर प्रदेश 9.25 लाख

महाराष्ट्र 4.23 लाख

बंगाल 3.30 लाख

गुजरात 3.29 लाख

राजस्थान 1.59 लाख

हिमाचल 0.78 लाख

उत्तराखंड 0.47 लाख

बिहार 0.44 लाख

जम्मू-कश्मीर 0.30 लाख

झारखंड 0.28 लाख

छत्तीसगढ़ 0.27 लाख

पंजाब 0.20 लाख

मध्य प्रदेश 0.18 लाख

रिकवरी रेट में लगातार सुधार 

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से उपलब्‍ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक कोरोना की दैनिक संक्रमण दर पिछले 32 दिनों से तीन फीसद से नीचे है। मरीजों के उबरने की दर में भी लगातार सुधार हो रहा है। हालांकि, मृत्युदर में कमी नहीं आ रही है। पिछले कुछ दिनों से मृत्युदर 1.30 फीसद से ज्यादा बनी हुई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने यह भी बताया कि राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास अभी कोरोना वैक्सीन की 2.75 करोड़ डोज बची हुई हैं। सरकार की तरफ से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अभी तक कुल 43.87 करोड़ डोज मुहैया कराई गई हैं।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.