रायपुर के कोविड अस्पताल में भीषण आग, चार मरीजों की मौत, परिजनों ने ऐसे बचाई अपनी जान

अस्पताल में कोरोना के मरीजों का चल रहा था इलाज

घटना की अधिक जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अस्पताल में आग लगने से अभी तक पांच लोगों की मौत हो गई है। शार्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आ रही है। बाकी मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।

Dhyanendra Singh ChauhanSat, 17 Apr 2021 10:30 PM (IST)

रायपुर, एजेंसियां। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के कोविड अस्पताल में आग लग गई। यहां पर कोरोना के मरीजों का ईलाज चल रहा था। घटना की अधिक जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अस्पताल में आग लगने से चार लोगों की मौत हो गई है। शार्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आ रही है। बाकी मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की और जांच की जा रही है।

बता दें कि रायपुर के पचपेड़ी नाका स्थित राजधानी अस्पताल को कोविड केयर हॉस्पिटल भी बनाया गया है। शनिवार को यहां के आईसीयू रूम में लगे पंखे में अचानक शॉर्ट सर्किट से आग लग गई।

बताया जा रहा है कि शुरुआत में अस्पताल प्रबंधन ने आग को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई और इसने भीषण रूप ले लिया। आग की वजह से अस्पताल के सभी कमरों में धुआं भर गया। इसके चलते यहां भर्ती मरीजों का दम घुटने लगा। परिजनों ने हॉस्पिटल में लगे कांच को तोड़कर धुआं बाहर निकलने की जगह बनाई।

स्वजनों को स्वयं ले जाना पड़ा मरीजों को दूसरे अस्पताल

आग लगने की सूचना पर कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन, एसएसपी अजय यादव, सीएमएचओ डा मीरा बघेल और तहसीलदार मौके पर पहुंचे। प्रशासन के विलंब से पहुंचने के कारण मरीजों को दूसरे अस्पताल ले जाने के लिए स्वजनों को स्वयं ले जाना पड़ा।  

जिन मरीजों की मौत हुई है उनमें खैरागढ़ की वंदना जगमलानी (43), धमतरी की देवकी सोनकर (45), ईश्वर राव व एक अन्य शामिल हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि कुछ मरीज वार्ड में फंसे हुए थे।

अस्पताल में करीब 50 मरीज थे भर्ती

अस्पताल में आग लगने के दौरान वार्ड में करीब 50 मरीज भर्ती थे। अफरा-तफरी के बीच सभी मरीजों को अस्पताल से बाहर निकाला गया और दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया गया। इस बीच दमकल और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। अस्पताल में लगी आग कोको बुझा लिया गया है।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.