बॉर्डर पर डटे किसानों ने दी धमकी, सरकार से नहीं की जाएगी वार्ता, बंद कर देंगे दिल्ली का दाना-पानी

किसानों ने दिल्ली जाने वाले संपर्क मार्गों को बंद करने का एलान किया।

किसानों के आंदोलन को हरियाणा की खाप पंचायतों का भी समर्थन मिल गया है। पंजाब व हरियाणा से भारी संख्या में किसानों के जत्थे सिंघु बॉर्डर पर आ रहे हैं। कांग्रेस व आप नेता किसानों से मिलने सिंघु बॉर्डर पहुंचे।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:39 PM (IST) Author: Bhupendra Singh

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। कई दिनों से सिंघु बॉर्डर पर डेरा डाले किसानों ने सोमवार को फिर एलान किया कि वे बॉर्डर पर डटे रहेंगे। जब तक सरकार बुराड़ी के संत निरंकारी मैदान में गए किसानों को बॉर्डर पर वापस नहीं आने देगी, सरकार से किसी भी प्रकार की बात नहीं की जाएगी। उन्होंने दिल्ली जाने वाले संपर्क मार्गों को बंद करने का एलान किया और धमकी दी कि दिल्ली का दाना-पानी बंद कर देंगे।

किसान नेताओं ने कहा- पीएम मोदी कभी किसानों के मन की बात को भी सुनें

भारतीय किसान यूनियन (चढ़ूनी) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी, स्वराज इंडिया के नेता व संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्य योगेंद्र यादव व अन्य नेताओं ने सिंघु बॉर्डर पर प्रेस वार्ता की। किसान नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी किसानों के मन की बात को भी सुनें। किसान नेताओं ने हरियाणा के संपर्क मार्गों से लगते गांवों के किसानों से आग्रह किया है कि वे अपने-अपने इलाके में रास्ते बंद कर दें, ताकि दिल्ली का दाना-पानी बंद किया जा सके। उन्होंने जाम के कारण आ रही परेशानी के लिए जनता से माफी भी मांगी।

कांग्रेस व आप नेता किसानों से मिलने सिंघु बॉर्डर पहुंचे

किसानों के समर्थन में क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता व पंजाबी अभिनेता योगराज सिंह, आप विधायक राघव चड्ढा भी सिंघु बॉर्डर पहुंचे। दूसरी तरफ निरंकारी मैदान में आप नेता व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष मुदित अग्रवाल भी किसानों से मिलने पहुंचे।

समर्थन में आईं हरियाणा की खाप पंचायतें

किसानों के आंदोलन को हरियाणा की खाप पंचायतों का भी समर्थन मिल गया है। पंजाब व हरियाणा से भारी संख्या में किसानों के जत्थे सिंघु बॉर्डर पर आ रहे हैं।

बॉर्डर पर फंसे ट्रक चालकों को अनहोनी की आशंका

बॉर्डर पर फंसे ट्रक चालकों को अनहोनी की आशंका सता रही है। ट्रक चालक जीवीराज व सहायक बलदेव का कहना है कि उनके ट्रक में प्लास्टिक का दाना भरा हुआ है। इसको वह गुजरात से लेकर आए हैं और दिल्ली में जाना है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों यहां पर आंसू गैस के गोले भी दागे गए थे। आगजनी भी हुई थी। अब उन्हें हर समय ट्रक में आग लगने का डर लगा रहता है। इसके अलावा प्रदर्शनकारी भी दिनभर ट्रकों पर बैठे रहते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.