दिग्विजय सिंह ने किसानों को सोयाबीन का प्रमाणित बीज उपलब्ध करवाने की मांग की, सीएम को लिखा पत्र

उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में व्यापारी बीज संकट का फायदा उठाकर मनमानी कीमत वसूल कर रहे हैं। यह प्रति क्विंटल 10 से लेकर 12 हजार तक पहुंच चुकी है। बीज की कालाबाजारी भी हो रही है। इसे रोकने के लिए कोई ठोस कार्रवाई कृषि विभाग नहीं कर रहा है।

Dhyanendra Singh ChauhanSun, 20 Jun 2021 09:18 PM (IST)
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की फाइल फोटो

भोपाल, राज्य ब्यूरो। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आरोप है कि खरीफ सीजन की प्रमुख फसल सोयाबीन की बोवनी की तैयारियों में जुटे किसानों को बीज नहीं मिल रहा है। निजी क्षेत्र में व्यापारी बीज संकट का फायदा उठाकर मनमानी कीमत वसूल कर रहे हैं। यह प्रति क्विंटल 10 से लेकर 12 हजार तक पहुंच चुकी है। बीज की कालाबाजारी भी हो रही है। इसे रोकने के लिए कोई ठोस कार्रवाई कृषि विभाग नहीं कर रहा है।

उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को इस आशय का पत्र लिखा है और किसानों को प्रमाणित बीज उपलब्ध कराने की मांग की है।

पिछले दो-तीन साल से सोयाबीन की फसल हुई प्रभावित

वहीं, कृषि मंत्री कमल पटेल का कहना है कि पिछले दो-तीन साल से सोयाबीन की फसल किसी न किसी वजह से प्रभावित हुई। इसका असर बीज उत्पादन कार्यक्रम पर भी पड़ा है। यही वजह है कि कुछ जगह बीज की समस्या है। कीमत को नियंत्रित करने के लिए कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि वे जमाखोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए कार्रवाई करें। निर्धारित दर से अधिक पर बीज न बेचा जाए, इसके लिए मैदानी अमले को सक्रिय करें। नकली बीज के कारोबार पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। बीज प्रमाणीकरण संस्था के अधिकारियों को निलंबित किया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.