Weather Updates: छत्तीसगढ़ और झारखंड में 16 सितंबर तक हो सकती है बारिश, जानें देश के अन्य इलाकों का हाल

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव का असर झारखंड में दिख रहा है। इसके कारण वहां जमकर बारिश हो रही है। सोमवार को ही रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की ओर से मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना बताते हुए चेतावनी जारी की गई थी

Monika MinalWed, 15 Sep 2021 06:07 AM (IST)
छत्तीसगढ़ और झारखंड में 16 सितंबर तक हो सकती है बारिश

नई दिल्ली, एजेंसी। इस साल मानसून की बारिश राजधानी दिल्ली से लेकर तमिलनाडु और तेलंगाना समेत देश के विभिन्न हिस्सों पर मेहरबानी दिखा रही है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान की मानें तो अगले कुछ दिनों तक और देश के विभिन्न इलाकों में मानसून की बारिश के कारण ऐसा ही सुहावना मौसम रहने वाला है।

भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) की ओर से मिली नई जानकारी के अनुसार उत्तरी छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) पर डिप्रेशन बना हुआ है जो अंबिकापुर के पश्चिम में 130 किमी की दूरी पर है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 6 घंटों के दौरान यह कम दबाव वाला क्षेत्र बनाएगा। वहीं बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव का असर झारखंड में दिख रहा है। इसके कारण वहां जमकर बारिश हो रही है। सोमवार को ही रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की ओर से मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना बताते हुए चेतावनी जारी की गई थी और बताया था कि 16 सितंबर तक पूरे झारखंड में बारिश की संभावना बनी हुई है।

दिल्ली में भी बारिश का दौर जारी है। इस बीच दिल्ली-एनसीआर में 15 और 16 सितंबर को भी तेज बारिश हो सकती है। इसके अलावा मध्य प्रदेश और गुजरात में अगले दो दिनों तक बारिश जारी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार गुजरात, महाराष्‍ट्र, मध्‍य प्रदेश, छत्‍तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, राजस्थान, ओडिशा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत भारत के मैदानी इलाकों में 16 सितंबर तक बारिश का अनुमान है।

वहीं उत्‍तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कोस्‍टल कर्नाटक, तमिलनाडु के कई जिलों में भी बौछारें पड़ सकती हैं। बता दें कि गुजरात के राजकोट और जामनगर में भारी बारिश के कारण बाढ़ के हालात ऐसे हैं कि नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने पद की शपथ लेने के तुरंत बाद वहां दौरे का फैसला लिया।

बंगाल की खाड़ी में डीप डिप्रेशन के कारण तटीय राज्य ओडिशा में रिकार्ड तोड़ बारिश दर्ज की गई। राज्य के विशेष राहत आयुक्त कमिश्नर प्रदीप जेना ने बताया कि इससे राज्य में बाढ़ के हालात बन गए और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.