धनबाद जज की कथित हत्या पर बार प्रमुख ने सुप्रीम कोर्ट से की सीबीआइ जांच की मांग, कहा- यह न्यायपालिका के लिए खतरनाक

न्यायमूर्ति रमना ने कहा कि हाई कोर्ट ने पुलिस और जिला अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। मुख्य न्यायाधीश ने कहा वे गुरुवार को इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। उन्हें इस मामलो को संभालने दें। इस स्तर पर हमारे हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है।

Dhyanendra Singh ChauhanThu, 29 Jul 2021 02:41 PM (IST)
बुधवार को मॉर्निंग वॉक के दौरान धनबाद के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश की हुई हत्या

नई दिल्ली, आइएएनएस। धनबाद के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश (एडीजे) उत्तम आनंद की कथित हत्या का मामला गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में भी उठा। सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के प्रमुख और वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट से धनबाद के एडीजे उत्तम आनंद की कथित हत्या का मामला स्वत: संज्ञान लेने को कहा। मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष विकास सिंह ने इस मामले का जिक्र किया। उन्होंने अदालत से कहा कि अगर किसी गैंगस्टर की जमानत खारिज करने के बाद इस तरह किसी की हत्या की जाती है तो यह न्यायपालिका के लिए खतरनाक स्थिति है।

मुख्य न्यायाधीश रमना ने कहा कि उन्होंने घटना के बारे में सुबह झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से बात की है। जज के हत्या के मामले की सीबीआइ जांच की मांग करते हुए विकास सिंह ने कहा कि घटना न्यायपालिका के स्वतंत्रता पर एक चौंकाने वाला हमला है।

न्यायमूर्ति रमना ने कहा कि हाई कोर्ट ने पुलिस और जिला अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। मुख्य न्यायाधीश ने कहा, 'वे गुरुवार को इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। उन्हें इस मामलो को संभालने दें। इस स्तर पर हमारे हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है।'

वरिष्ठ अधिवक्ता सिंह ने जोर देकर कहा कि यह मुद्दा महत्वपूर्ण है और यह न्याय के हित में भी है। पीठ ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (एससीबीए) की पहल से अभिभूत है और इसके द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना भी करते हैं। 

मॉर्निंग वॉक के दौरान धनबाद के एडीजे उत्तम आनंद की हुई हत्या

बता दें कि बुधवार को मॉर्निंग वॉक के दौरान धनबाद के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश (एडीजे) उत्तम आनंद को एक ऑटो-रिक्शा ने टक्कर मार दी थी। अस्पताल में इलाज के दौरान आनंद ने दम तोड़ दिया। सीसीटीवी फुटेज से संकेत मिलता है कि पिछली रात चोरी हुए ऑटो-रिक्शा ने उसे जानबूझकर मारा था। मृतक न्यायाधीश की पत्नी ने कथित तौर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है।

इलाके के सीसीटीवी फुटेज को रिकॉर्ड में लाया जाए: डी.वाई चंद्रचूड़

विकास सिंह व मुख्य न्यायाधीश की अदालत में मामले का उल्लेख करने से पहले इसे न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि इलाके के सीसीटीवी फुटेज को रिकॉर्ड में लाया जाना चाहिए, क्योंकि यह घटना जज पर सुनियोजित हमले की तरह लग रही है।

सिंह ने कहा, 'यह न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर एक खुला हमला है। जो वीडियो वायरल हुआ है वह वास्तव में किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा लिया जा रहा था जो हमले की पूर्व जानकारी के साथ रिकॉर्ड कर रहा था। हालांकि, न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने उनसे पहले इस मामले का मुख्य न्यायाधीष रमना से उल्लेख करने के लिए कहा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.