Cyclone Gulab Update: चक्रवाती तूफान गुलाब को लेकर इन राज्यों में रेड अलर्ट जारी, जानें- कहां पहुंचा तूफान, कब होगा लैंडफॉल

चक्रवाती तूफान ओडिशा और आंध्र प्रदेश की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। इसका सबसे अधिक प्रभाव ओडिशा के गोपालपुर से आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम के बीच होने की आशंका जताई जा रही है। बंगाल में भी भारी बारिश के आसार हैं। आने वाले इस तूफान का नाम गुलाब है।

Sanjeev TiwariSun, 26 Sep 2021 10:06 AM (IST)
चक्रवाती तूफान गुलाब ओडिशा और आंध्र प्रदेश की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। (फाइल फोटो)

नई दिल्ली, एजेंसी। बंगाल की खाड़ी से उठ रहा चक्रवाती तूफान ओडिशा और आंध्र प्रदेश की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। इसका सबसे अधिक प्रभाव ओडिशा के गोपालपुर से आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम के बीच होने की संभावना जताई जा रही है। बंगाल में भी भारी बारिश के आसार हैं। विशेष राहत आयुक्त ओडिशा पी.के. जेना ने बताया कि चक्रवात गुलाब अभी गोपालपुर से 180 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण-पूर्व की तरफ स्थित है। दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ चल रहा है। इसके आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम और ओडिशा के गोपालपुर के बीच आज देर शाम, रात तक लैंडफाल की संभावना है। निगरानी रखी जा रही है। मार्ग और लैंडफॉल का ठीक समय 2-3 घंटों में ज्यादा स्पष्ट हो पाएगा। प्रभाव की वजह से गंजम, गजपति में हवा की गति 70-80 किलोमीटर रहने की संभावना है। भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। 11 ज़िलों में अलर्ट जारी किया गया है। एनडीआरएफ की 24 टीमों को तैनात किया गया है।

अगले तीन दिन भारी से भारी बारिश होने की संभावना

इन  राज्यों के कई जिलों में अगले तीन दिनों में भारी से भारी बारिश होने की संभावना है, इसे लेकर मौसम विभाग ने हाई अलर्ट जारी किया है। अगले तीन दिनों के दौरान समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी और ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में मछुआरों को 25 से 27 सितंबर तक बंगाल की खाड़ी के पूर्वी-मध्य और उत्तरपूर्वी क्षेत्र में समुद्र में न जाने को कहा गया है। मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान 'गुलाब' रविवार की सुबह तक पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी पर केंद्रित था, जो ओडिशा के गोपालपुर से लगभग 270 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व और आंध्र प्रदेश में कलिंगपट्टनम से 330 किमी पूर्व में है।

जानें- कहां पहुंचा तूफान गुलाब

मौसम विभाग से मिली ताजा जानकारी के मुताबिक चक्रवाती तूफान गुलाब ओडिशा के गोपालपुर से दक्षिण-पूर्व में 180 किलोमीटर दूर है और उम्मीद जताई जा रही है कि वह पश्चिम की ओर जाएगा। चक्रवात का आज देर रात लैंडफॉल हो सकता है और उस समय हवाओं की रफ्तार 75-85 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है। भारत मौसम विभाग ने ‘चक्रवात गुलाब’ के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। दक्षिण ओडिशा और उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश के लिए आज रेड अलर्ट जारी किया गया है।

पाकिस्तान ने रखा है तूफान का नाम गुलाब

इस तूफान का नाम 'गुलाब' है, जो पाकिस्तान ने रखा है। बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य से यह तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। यह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाकों से जाकर टकराएगा। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक इसका लैंडफाल आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम में हो सकता है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक रविवार की शाम को चंक्रवात गुलाब के लैंडफाल होने की संभावना है।

एनडीआरएफ की 18 टीमें ओडिशा और आंध्रप्रदेश जाएंगी

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एनडीआरएफ) तूफान के मद्देनजर अपनी 18 टीमें ओडिशा और आंध्रप्रदेश भेज रहा है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया कि 13 टीमें ओडिशा और पांच आंध्र प्रदेश भेजी जा रही हैं। ओडिशा में बालासोर, गंजम, गजपति रायगादा, कोरापूत, नयागढ़ और मलकानगिरि जिलों में टीमें भेजी जा रही हैं, जबकि आंध्र प्रदेश में विशाखापत्तनम, श्रीकाकुलम, यनम और विजयनगरम में टीमें मोर्चा संभालेंगी। वहीं, नेशनल क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने भी शनिवार को इस प्राकृतिक आपदा से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की।

बंगाल में छुट्टियां रद

दूसरी ओर बंगाल सरकार ने तूफान के मद्देनजर सभी सरकारी कर्मचारियों की पांच अक्टूबर तक की छुट्टियां रद कर दी हैं। हालांकि, बंगाल में चक्रवात का आंध्र प्रदेश और ओडिशा जैसा असर पड़ने की आशंका नहीं है, मगर दक्षिण बंगाल के कुछ जिलों में भारी बारिश हो सकती है। तूफान और निम्न दबाव के कारण पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना में सोमवार को भारी बारिश की आशंका है। आगामी मंगलवार को कोलकाता, पूर्व और पश्चिम मेदिनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा और हुगली जिलों में भारी बारिश (8-11 सेमी) के आसार हैं।

पुलिस ने खोला कंट्रोल रूम

मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए कोलकाता पुलिस ने 'यूनिफाइड कमांड सेंटर' नाम से कंट्रोल रूम खोला है। कोलकाता पुलिस के तहत आने वाले सभी थानों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है। इसके अलावा एनडीआरएफ की 15 टीमों को बंगाल के तटीय क्षेत्रों में तैनात किया गया है।

सरकार ने की समीक्षा बैठक

इस बीच, कैबिनेट सचिव राजीव गाबा की अध्यक्षता में नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी की बैठक हुई। बैठक में तूफान से निपटने को लेकर केंद्र और राज्य सरकार की तैयारियों की समीक्षा की गई। तूफान से बचाव के लिए सभी प्रभावित राज्यों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं। अतिरिक्त टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है। आर्मी और नेवी को भी पूरी तरह से तैयार रखा गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.