Covid19 Vaccination: अब तक देश में दी गई वैक्सीन की 1.48 करोड़ से खुराक, कोविन पर 50 लाख पंजीकरण

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में सक्रिय मामलों की संख्या अब सिर्फ 1,68,000 है।

राजेश भूषण ने कहा कि कोविड वैक्सीन की 1.48 करोड़ से अधिक खुराक मंगलवार दोपहर एक बजे तक दिलाई गई हैं। इसमें से 2.08 लाख खुराक उन लोगों को दी गई है जिनकी उम्र 45 साल से 59 साल तक की है।

Arun kumar SinghTue, 02 Mar 2021 04:46 PM (IST)

 नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश में कोरोना की स्थिति और टीकाकरण पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में सक्रिय मामलों की संख्या अब सिर्फ 1,68,000 है। अभी तक हम 21 करोड़ से ज्यादा टेस्ट कर चुके हैं। पॉजिटिविटी रेट 5.11 फीसद  है। मृत्यु दर 1.41 फीसद है। केरल और महाराष्ट्र मे सक्रिय मामलों के 75 फीसद मामले हैं। हालांकि देश के कुछ राज्यों में सक्रिय मामलों की संख्या में वृद्धि देखी गई है। यह तथ्य अभी भी बना हुआ है कि ठीक होने के मामले 97 फीसद से अधिक हैं और सक्रिय मामले अभी भी 2 फीसद से कम हैं। हमने तमिलनाडु और पंजाब में केंद्रीय टीमों की प्रतिनियुक्ति की है। हम हरियाणा की भी निगरानी कर रहे हैं।  

राजेश भूषण ने कहा कि कोविड वैक्सीन की 1.48 करोड़ से अधिक खुराक मंगलवार दोपहर एक बजे तक दिलाई गई हैं। इसमें से 2.08 लाख खुराक उन लोगों को दी गई है, जिनकी उम्र 45 साल से 59 साल तक की है। 

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, यदि प्रतिदिन 10 लाख पर प्रतिदिन 140 टेस्‍ट किए जा रहे हैं और मामले की पॉजिटिविटी रेट 5 फीसद या उससे कम है, तो इसका मतलब है कि कोविड महामारी नियंत्रण में है।  हम 5.11 फीसद समग्र पॉजिटिविटी के साथ उस निशान के बहुत करीब हैं। 

कोविड टीकाकरण पर एम्‍पावर्ड कमेटी के अध्‍यक्ष आरएस शर्मा का कहना है कि कल से हमारे पास कोविड टीकाकरण के लिए कोविन पर 50 लाख पंजीकरण हुए हैं। 

नीति आयोग के सदस्‍य डॉ वीके पॉल ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सार्वजनिक स्‍थानों पर उपयुक्त व्यवहार को कम नहीं किया जा सकता है। कृपया बड़े समारोहों, पार्टियों, शादियों आदि में जाने से बचें,  ये बड़े पैमाने पर कोरोना को फैलाने के कारक हो सकते हैं।  

कर्नाटक के एक विधायक को आज उनके निवास पर वैक्सीन की डोज लगाने पर स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि यह प्रोटोकॉल में अनुमति नहीं है। हमने राज्य सरकार से एक रिपोर्ट मांगी है। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.