एक दिन में ढाई करोड़ से ज्‍यादा वैक्सीन लगाने से बढ़ा हौसला, सरकार अब इस योजना पर कर रही काम

शुक्रवार को 2.50 करोड़ से ज्‍यादा डोज लगाकर सरकार ने टीकाकरण में नया कीर्तिमान स्‍थापित किया। एक दिन में टीकाकरण के नए रिकार्ड से देश का अत्‍मविश्‍वास और बढ़ गया है। सरकार अब नई रणनीति पर काम कर रही है...

Krishna Bihari SinghSat, 18 Sep 2021 04:23 PM (IST)
एक दिन में रिकार्ड 2.50 करोड़ से ज्‍यादा टीकाकरण के बाद सरकार अब नई रणनीति पर काम कर रही है...

नई दिल्‍ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री मोदी के जन्‍मदिन के मौके पर शुक्रवार को 2.50 करोड़ से ज्‍यादा डोज लगाकर सरकार ने टीकाकरण में नया कीर्तिमान स्‍थापित किया। एक दिन में टीकाकरण के नए रिकार्ड से देश का अत्‍मविश्‍वास और बढ़ गया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक सरकार अब नई रणनीति पर काम कर रही है और उसका लक्ष्य प्रति माह 25 करोड़ से अधिक वैक्‍सीन की डोज खरीदने का है। इससे साफ है कि आने वाले वक्‍त में कोरोना महामारी के खिलाफ जंग और तेज होने वाली है।  

हर माह 25 करोड़ से अधिक डोज खरीदने की तैयारी

सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि देश को इस महीने कोविशील्ड की लगभग 20 करोड़ खुराक और कोवैक्‍सीन की 3.5 करोड़ खुराक मिलेगी। अब सरकार का लक्ष्य प्रति माह 25 करोड़ से अधिक कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की डोज खरीदने का है। सरकारी सूत्र ने बताया कि ज़ायडस कैडिला से भी इस महीने के अंत तक एक करोड़ खुराक मिलने की उम्मीद है। इससे टीकाकरण अभियान को और तेज करने में मदद करेगी। सूत्रों ने दावा किया कि देश में अब वैक्सीन की कोई कमी नहीं है।

जल्‍द शुरू हो सकती है बायोलॉजिकल-ई की वैक्सीन की आपूर्ति

सूत्रों ने बताया कि सरकार की प्राथमिकता दूसरे देशों को टीके का निर्यात करने से पहले सभी देशवासियों के टीकाकरण का है। सरकार पहले अपने नागरिकों के टीकाकरण को प्राथमिकता दे रही है। देश में वैक्‍सीन की जरूरत खत्‍म होने के बाद ही वैक्‍सीन के निर्यात पर विचार किया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि बायोलॉजिकल-ई की कोविड-19 रोधी वैक्सीन की आपूर्ति भी जल्‍द शुरू होने के आसार हैं। इससे अगले महीने से भारत में वैक्सीन की अधिक डोज का उत्पादन होने लगेगा।  

चुनावी राज्‍यों पर भी रहेगा फोकस 

चूंकि कोविड रोधी वैक्‍सीन की बूस्टर डोज लगाने को लेकर दुनियाभर में चर्चा चल रही है लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार को सबसे पहली प्राथमिकता अधिकांश नागरिकों को टीके की कम से कम एक खुराक दिए जाने पर होनी चाहिए। सूत्रों का कहना है कि सरकार भी इसी रणनीति पर काम कर रही है। उसका जोर उत्‍तर प्रदेश और पंजाब जैसे चुनावी राज्‍यों में सबको सबसे पहले वैक्‍सीन की एक डोज देने पर होगा।

सात अक्टूबर तक 100 करोड़ डोज लगाने की तैयारी

सूत्रों ने बताया कि सरकार सात अक्टूबर तक कोविड-19 रोधी वैक्सीन की 100 करोड़ डोज लगाने की तैयारी में जुट गई है। हालांकि 100 करोड़ डोज लगाने के लिए अक्टूबर के मध्य तक का लक्ष्य रखा गया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि चूंकि नरेंद्र मोदी ने सात अक्टूबर 2001 को पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी इसलिए 100 करोड़ डोज लगाने के लक्ष्य को इसी दिन तक हासिल करने की तैयारी की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय 100 करोड़ डोज लगाने के वाले दिन को कई कार्यक्रमों का आयोजन करेगा।

अब तक 80 करोड़ खुराक दी गई

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में अब तक कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की 80 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। सरकार का कहना है कि अंतिम 10 करोड़ खुराक महज 11 दिनों में दी गई है। मंत्रालय की ओर से जारी की गई शाम सात बजे तक की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 60,03,94,452 पहली जबकि 20,29,80,695 दूसरी डोज दी गई है। सरकार का कहना है कि राज्‍यों को अब तक 78 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध कराई गई हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट- टीकाकरण में तेजी लेकिन केरल में कोरोना संक्रमण ने बढ़ाई चिंता

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.