देश में कोरोना की बेकाबू रफ्तार, 24 घंटे में करीब 3 लाख नए मामले, 2023 लोगों की गई जान

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 29,90,197 वैक्सीन लगाई गई है।

Coronavirus in India देश में कोरोना वायरस की तेज रफ्तार से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। महाराष्ट्र उत्तर प्रदेश दिल्ली कर्नाटक केरल छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश तमिलनाडु गुजरात और राजस्थान में ही संक्रमण से सबसे अधिक मामले पाए गए हैं।

Manish PandeyWed, 21 Apr 2021 10:16 AM (IST)

नई दिल्ली, एजेंसियां। देश में कोरोना वायरस की रफ्तार बेकाबू हो गई है। फिलहाल इसमें कमी के कोई आसार नजर नहीं आ रहे है। संक्रमण के नए मामले बेहद तेज गति से तो बढ़ ही रहे हैं, इसके साथ ही मरने वालों की संख्या में भी बेहिसाब इजाफा देखने को मिल रहा है। बीते एक दिन में कोरोना संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 2.95 लाख से अधिक नए मामले आए हैं और इस दौरान 2 हजार से अधिक लोगों की जान गई है। ज्यादातर नए मामले 10 राज्यों में ही पाए गए हैं। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में संक्रमण की स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है। सबसे ज्यादा इन्हीं राज्यों में नए मामले पाए गए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण से रिकॉर्ड 2023 लोगों की मौत हुई है और 2 लाख 95 हजार से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद देश में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,56,16,130 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 21,57,538 है और कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या 1,32,76,039 पहुंच गई है। 

मृत्युदर में लगातार गिरावट

कोरोना महामारी के चलते अब तक 1,82,553 लोगों की जान जा चुकी है। हालांकि, रिकॉर्ड मौतों के बावजूद मृत्युदर में लगातार गिरावट आ रही है और वर्तमान में यह 1.17 फीसद पर है। विशेषज्ञों का भी कहना है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर संक्रामक ज्यादा घातक कम है यानी इसमें संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या ज्यादा है, लेकिन उनके अनुपात में मौतें कम हो रही हैं।

मंगलवार को 16 लाख से ज्यादा टेस्ट

कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए देश में युद्ध स्तर पर लोगों की जांच की जा रही है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के मुताबिक कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए देश में मंगलवार को 16 लाख 39 हजार 357 नमूनों की जांच की गई। इनको मिलाकर अब तक देश में कुल 27 करोड़ 10 लाख 53 हजार 392 नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.