Coronavirus in India: भारत में पिछले 24 घंटों में 48,268 मामले, रिकवरी रेट बढ़ी; तेजी से घट रहे सक्रिय मामले

पिछले 24 घंटों में 59,454 लोग इस जानलेवा वायरस की गिरफ्त से बाहर आए
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 09:51 AM (IST) Author: Tilak Raj

नई दिल्‍ली, एएनआइ। भारत में बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 48,268 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 551 लोगों की कोविड-19 के कारण मौत हुई है। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। यही वजह है कि पिछले कई दिनों से भारत में 50 हजार से कम संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। इस दौरान रिकवरी दर भी बढ़ रही है और सक्रिय मामलों में गिरावट हो रही है। भारत में अब कोरोना संक्रमितों के सक्रिय मामलों की संख्‍या सिर्फ 5,82,649 रह गई है। पिछले 24 घंटों में 59,454 लोग इस जानलेवा वायरस की गिरफ्त से बाहर आ चुके हैं। देश में अब तक 74,32,829 लोग कोरोना वायरस को मात दे चुके हैं।

बीते 24 घंटों में 48,268 कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले आने के बाद पॉजिटिव मामलों की संख्या 81,37,119 हो गई है। वहीं, इस दौरान 551 नई मौतों के बाद मौतों की संख्या 1,21,641 हो गई है। भारत में अब तक 10 करोड़ से ज्‍यादा कोरोना वायरस के टेस्‍ट किए जा चुके हैं। प्रतिदिन 10 लाख से ज्‍यादा सैंपल टेस्‍ट किए जा रहे हैं। दरअसल, वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्‍ल्‍यूएचओ) के साथ-साथ सभी एक्‍सपर्ट का यही मामना है कि जल्‍द से जल्‍द टेस्‍ट कर कोरोना संक्रमितों की पहचान कर, उन्‍हें आइसोलेट कर ही इसके प्रसार को रोका जा सकता है। भारत का स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय इसी दिशा में काम कर रहा है।

10 करोड़ से ज्‍यादा कोरोना टेस्‍ट

देश में अब तक 10,87,96,064 कोरोना टेस्‍ट किए जा चुके हैं। बीते 24 घंटों की बात करें, तो 10,67,976 सैंपल टेस्‍ट किए गए हैं। विश्‍व में भारत कोरोना टेस्‍ट में दूसरे स्‍थान पर है। इस सूची भारत से ऊपर सिर्फ अमेरिका है।

दिल्‍ली में तेजी से बढ़ रहे मामले

पिछले कुछ दिनों से दिल्‍ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी आई है। बीते 25 घंटों में भी 5800 से ज्‍यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। कुछ लोगों का कहना है कि दिल्‍ली में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो गई है। हालांकि, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया का ऐसा मानना नहीं है। उनका कहना है कि यह कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर नहीं है, बल्कि दूसरी लहर ही तेज हो गई है। यह चिंता की बात है, क्‍योंकि यदि दूसरी लहर तेज होने पर 6000 के आसपास मामले आ रहे हैं, तो तीसरी लहर में क्‍या होगा?

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.