राजस्थान में बच्चे तैयार कर रहे मांग पत्र, चाहते हैं आरक्षण खत्म हो

मनीष गोधा, जयपुर। राजस्थान में बच्चे चाहते हैं कि सरकार लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष करे। स्कूलों में लड़के और लड़कियों को आपस में बातचीत करने और समझने के ज्यादा मौके दिए जाएं। इसके साथ ही बच्चे आरक्षण की व्यवस्था भी खत्म करना चाहते हैं और उनकी मांग है कि आगे बढ़ने का मौका योग्यता के आधार पर सबको एक जैसा मिले।

बच्चों की यह सोच सामने आई है जयपुर में दो दिन तक चली एक कार्यशाला में, जिसमें राजस्थान के जयपुर संभाग के करीब 140 बच्चों ने अपने-अपने मांग पत्र तैयार किए हैं। इन मांग पत्रों को मिलाकर एक मांग पत्र तैयार किया जाएगा और यह मांग पत्र सभी राजनीतिक दलों को भेजा जाएगा, ताकि वे बच्चों की मांगों को अपने घोषणा पत्र का हिस्सा बनाएं।

राजस्थान में सामाजिक क्षेत्र में काम कर रही स्वयंसेवी संस्थाओं का एक समूह बच्चों के क्षेत्र में काम कर रहे यूनिसेफ, सेव द चिल्ड्रन, एफएक्सडी इंडिया सुरक्षा, एक्शन एड आदि के साथ मिलकर राजस्थान के सातों संभागों में इस तरह की कार्यशालाएं आयोजित करवा रहा है। अब तक जयपुर, उदयपुर, जोधपुर, अजमेर और बीकानेर में कार्यशालाएं हो चुकी हैं। कोटा और भरतपुर में 17-18 सितंबर तक कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.