रूस में एससीओ सैन्य अभ्यास में शामिल हुए सीडीएस जनरल बिपिन रावत, सैन्‍य प्रमुखों के सम्‍मेलन में भी लिया भाग

देश के प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत (Chief of Defence Staff General Bipin Rawat) ने रूस के ऑरेनबर्ग क्षेत्र में शंघाई सहयोग संगठन (Shanghai Cooperation Organisation SCO) के तहत आयोजित एक बहु-राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी सैन्‍य अभ्यास के साक्षी बने।

Krishna Bihari SinghThu, 23 Sep 2021 08:52 PM (IST)
सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने रूस में एससीओ बहु-राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी सैन्‍य अभ्यास में हिस्‍सा लिया...

नई दिल्‍ली, पीटीआइ। देश के प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत (Chief of Defence Staff General Bipin Rawat) ने रूस के ऑरेनबर्ग क्षेत्र में शंघाई सहयोग संगठन (Shanghai Cooperation Organisation, SCO) के तहत आयोजित एक बहु-राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी सैन्‍य अभ्यास के साक्षी बने। भारत ने इस सैन्‍य अभ्‍यास के लिए 200 जवानों की टीम भेजी है। 13 सितंबर से शुरू हुआ यह सैन्‍य अभ्‍यास लगभग दो हफ्ते तक चलेगा।

बता दें कि सीडीएस जनरल रावत रूस की दो दिवसीय यात्रा पर हैं। वह ऑरेनबर्ग में एससीओ सदस्य देशों के जनरल स्टाफ के प्रमुखों के सम्मेलन में भी शामिल हुए। अधिकारियों का कहना है कि इस बहु राष्‍ट्रीय सैन्‍य अभ्यास ने एससीओ के सदस्‍य देशों के सशस्त्र बलों को बहुराष्ट्रीय परिदृश्य में आतंकवाद रोधी अभियानों में ट्रेनिंग लेने का अवसर मुहैया कराया है। मौजूदा वक्‍त में एससीओ सबसे बड़े क्षेत्रीय अंतरराष्ट्रीय संगठनों में से एक के रूप में उभरा है।

एससीओ एक प्रभावशाली आर्थिक और सुरक्षा ब्लॉक भी है। साल 2017 में भारत और पाकिस्तान इसके स्थायी सदस्य बने थे। भारतीय सेना ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने ऑरेनबर्ग में आयोजित एससीओ बहु राष्ट्रीय शांतिपूर्ण मिशन-2021 के सैन्‍य अभ्यास का अवलोकन किया। मालूम हो कि एससीओ की स्थापना 2001 में शंघाई में की गई थी।

रूस, चीन, किर्गिज गणराज्य, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान के राष्ट्रपतियों ने शंघाई में आयोजित एक शिखर सम्मेलन में इसकी स्‍थापना की थी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.