सीबीआइ ने कहा- अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में आइडीएस ने इंटरस्टेलर को दिए थे 7.40 लाख यूरो

आइडीएस इंफोटेक को फ्रांस की रक्षा उपकरण बनाने वाली कंपनी दॉसो एविएशन से पैसे मिले थे।

इस बहुचर्चित घोटाले में पूर्व वायु सेना प्रमुख एसपी त्यागी समेत 11 अभियुक्तों के खिलाफ सितंबर 2017 में सीबीआइ ने आरोपपत्र दाखिल किया था। सौदे में तय कमीशन का 40 फीसद इंटरस्टेलर के खाते में जमा होना था। इसको लेकर आइडीएस इंफोटेक और इंटरस्टेलर के बीच एक समझौता हुआ था।

Bhupendra SinghWed, 14 Apr 2021 02:46 AM (IST)

नई दिल्ली, आइएएनएस। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने कहा है कि 3,600 करोड़ रुपये के वीवीआइपी अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में चंडीगढ़ की आइडीएस इंफोटेक लिमिटेड ने इंटरस्टेलर होल्डिंग्स प्रा.लि को 7,40,128 यूरो (633 करोड़ रुपये) कमीशन के रूप में दिए थे।

आइडीएस इंफोटेक को दॉसो एविएशन से पैसे मिले थे

हेलीकॉप्टर घोटाले में सीबीआइ ने पिछले साल सितंबर में दायर 12,421 पेज की अपनी पूरक चार्जशीट में यह दावा किया है। आइडीएस इंफोटेक को मई, 2003 से नवंबर, 2006 के बीच फ्रांस की रक्षा उपकरण बनाने वाली कंपनी दॉसो एविएशन से पैसे मिले थे, जिसके बाद उसने यह कमीशन दिया था। इसके बाद ही दॉसो एविएशन ने भारत के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की बिक्री का सौदा किया था।

सौदे में तय कमीशन का 40 फीसद इंटरस्टेलर के खाते में जमा होना था

आरोपपत्र के मुताबिक दॉसो एविएशन के साथ हुए सौदे में तय कमीशन का 40 फीसद इंटरस्टेलर के खाते में जमा होना था। इसको लेकर आइडीएस इंफोटेक और इंटरस्टेलर के बीच हुए एक समझौता हुआ था। इंटरस्टेलर की तरफ से इस पर गौतम खेतान ने हस्ताक्षर किए थे। खेतान को इस घोटाले में सीबीआइ ने गिरफ्तार किया था। अभी वह जमानत पर है।

घोटाले में पूर्व वायु सेना प्रमुख एसपी त्यागी समेत 11 अभियुक्त शामिल हैं

इस बहुचर्चित घोटाले में पूर्व वायु सेना प्रमुख एसपी त्यागी समेत 11 अभियुक्तों के खिलाफ सितंबर, 2017 में सीबीआइ ने आरोपपत्र दाखिल किया था। 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.