Board Exams 2021 Cancellation : सीबीएसई के बाद यूपी और महाराष्ट्र ने भी 12 वीं की परीक्षा रद की

Board Exams 2021 Cancellation केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के बाद कई राज्यों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद करने का निर्णय लिया है। गुरुवार को उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र ने भी 12 वीं बोर्ड की परीक्षा को रद करने का फैसला किया है।

Arun Kumar SinghThu, 03 Jun 2021 06:18 PM (IST)
CBSE के बाद कई राज्यों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद करने का निर्णय लिया है

नई दिल्ली, जागरण टीम । Board Exams 2021 Cancellation : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के बाद कई राज्यों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं रद करने का निर्णय लिया है। गुरुवार को उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र ने भी 12 वीं बोर्ड की परीक्षा को रद करने का फैसला किया है। इससे पहले बुधवार को मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, राजस्थान और गोवा ने भी 12 वीं बोर्ड की परीक्षा को रद कर दिया है। गौरतलब है कि मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक में सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा रद करने का निर्णय लिया गया था। इसके एक दिन बाद गुरुवार को मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिम) की हायर सेकंडरी की परीक्षा रद कर दी है।

बता दें कि मंगलवार को परीक्षा रद करने की जानकारी देते हुए केंद्र सरकार ने कहा कि अब राज्यों के पास भी 12वीं परीक्षा रद करने का विकल्प होगा।। हालांकि 12वीं परीक्षा रद किए जाने को लेकर राज्यों पर कोई बाध्यता नहीं होगी। ऐसे में अब कई स्टेट बोर्डों द्वारा परीक्षाए रद किए जा रहे हैं।

यूपी में 12 की इंटरमीडिएट की परीक्षा रद की 

उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार ने हाई स्कूल के बाद इंटरमीडिएट की परीक्षा भी निरस्त कर दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से हमने कक्षा 12वीं की परीक्षा को रद करने का यह निर्णय लिया है। वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा। सीएम योगी के साथ डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा समेत शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों के साथ करीब 30 मिनट बैठक चली। 

यूपी बोर्ड के सौ साल के इतिहास में यह पहला मौका है, जब हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा निरस्त की गई है। विद्यार्थी बिना इम्तिहान दिए ही अगली कक्षा में प्रोन्नत किए जाएंगे। इंटरमीडिएट के 26.1 लाख और हाईस्कूल के 29.4 लाख विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया जाएगा। इस तरह प्रदेश के कुल 56 लाख से अधिक विद्यार्थी इससे लाभान्वित होंगे।

महाराष्ट्र में 10 और 12 वीं की परीक्षा रद 

महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि महाराष्ट्र बोर्ड कक्षा 10 और 12 की परीक्षाएं रद कर दी गई हैं। 

एमपी में 12वीं बोर्ड परीक्षा रद 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश की राज्य बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षा को रद कर दिया है। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश में 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं इस वर्ष आयोजित नहीं की जाएंगी। बच्चों की ज़िंदगी हमारे लिए अनमोल है। करियर की चिंता हम लोग बाद में कर लेंगे। उन्होंने कहा कि 12वीं बोर्ड के रिजल्ट किस आधार पर तैयार किए जाएंगे ये तय करने के लिए मंत्रियों का एक समूह बनाया गया है। जो विशेषज्ञों से चर्चा करने के बाद आंतरिक मूल्यांकन या अन्य आधारों पर विचार करेंगे और रिजल्ट का तरीका तय करेंगे। सीएम शिवराज ने कहा कि हमने 10वीं बोर्ड की परीक्षा को न कराने का फैसला लिया था। 

गुजरात बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षा रद की 

सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के बाद अब गुजरात बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षा रद कर दी है। गुजरात सरकार ने बुधवार को 12वीं की परीक्षा रद करने का आदेश जारी किया। इससे पहले गुजरात कैबिनेट की बैठक हुई, जिसमें परीक्षा को रद करने पर आम सहमति बनी। कैबिनेट बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए हालात अभी भी ऐसे नहीं हैं कि बच्चों की सेहत को खतरे में डालने का जोखिम उठाया जा सके।

उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं रद 

उत्तराखंड में अब 12वीं की परीक्षाएं भी रद हो गई। राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के मुताबिक देश में सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा को लेकर जो निर्णय हुआ है। राज्य सरकार उस फैसले से बाहर नहीं हैं। परिस्थितियों को देखते हुए परीक्षा रद करने का फैसला किया गया।

राजस्थान बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद 

राजस्थान में बुधवार को अशोक गहलोत सरकार ने बड़ा फैसला किया है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद कर दी गई है। शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कोरोना संकट के बीच परीक्षा ना कराने का फैसला लिया गया है। छात्रों के हित को देखते हुए ये कदम उठाया गया है। इधर, गोवा में भी 12वीं की परीक्षाओं को लेकर बड़ा ऐलान किया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद करने की घोषणा की है।

ऐलान होना बाकी

खास बात यह है कि बोर्ड परीक्षाओं को रद किए जाने का लगातर समर्थन करने वाली झारखंड सरकार ने अभी तक 10वीं की परीक्षा रद नहीं की और न ही 12वीं परीक्षा पर कोई फैसला किया है, लेकिन सीबीएसई परीक्षा पर फैसला आने के बाद उम्मीद है कि अगले एक-दो दिन में झारखंड सरकार भी अपना फैसला बता सकती है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.