top menutop menutop menu

नाबालिगों से दुष्कर्म का आरोपित प्यारे मियां के खिलाफ दर्ज किया एक और केस, 30 हजार का इनाम घोषित

भोपाल, राज्‍य ब्‍यूरो। नाबालिग किशोरियों से दुष्कर्म के मामले में फरार पत्रकार प्यारे मियां का दूसरे दिन भी कोई सुराग नहीं लग सका है। आरोपित पर पुलिस ने इनाम की राशि तीस हजार तक बढ़ा दी है। जनसंपर्क विभाग ने प्यारे मियां की पत्रकार के नाते मिली अधिमान्यता रद कर दी है। उधर, प्रशासन ने सोमवार को भोपाल के बुधवारा में बना उसका अवैध मैरिज हॉल तोड़ दिया। प्यारे मियां के खिलाफ कोहेफिजा थाने में भी सोमवार को एक किशोरी की शिकायत पर दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले में सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। 

फरार पत्रकार का दूसरे दिन भी सुराग नहीं, 30 हजार का इनाम घोषित

भोपाल के एएसपी जोन वन रजत सकलेचा ने बताया कि फरार आरोपी प्यारे मियां का मोबाइल घटना के बाद से बंद आ रहा है। आखिरी लोकेशन पर दबिश दी गई, लेकिन उसका सुराग नहीं लगी। उसकी तलाश में पुलिस टीमें जुटी हैं। उसके रिश्तेदारों और परिजनों से पूछताछ की जा रही है। आरोपी की सभी अवैध संपत्तियां जमीदोज की जाएंगी। रातीबड़ पुलिस ने दुष्कर्म, अपहरण, दुष्कर्म के प्रयास, पोक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में जीरो पर कायमी कर केस डायरी शाहपुरा थाना भेज दी है। शाहपुरा पुलिस ने असल कायमी कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।

पुलिस की जांच में अब तक सामने आया है कि प्यारे मियां की सहयोगी स्वीटी विश्वकर्मा की नानी, प्यारे मियां के यहां काम करती थी। इस दौरान स्वीटी उसके संपर्क में आई। बड़ी ख्वाहिशें रखने वाली स्वीटी प्यारे मियां के झांसे में आ गई और उसके लिए लड़कियां सप्लाई करने लगी। जरूरतमंद स्लम एरिया की नाबालिग किशोरियों को वह बहला-फुसलाकर कर प्यारे मियां को पेश करती थी। प्यारे मियां नौकरी और पैसों का लालच देकर उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर दुष्कर्म कर रहा था। इसके अलावा यह भी पता चला है कि वह किशोरियों के माता-पिता को लोन के नाम पर उधार रूपये देता था। इसके किशोरियों को नौकरी के नाम पर अपने पास बुलाने लगता था और उनका शारीरिक शोषण करने लगता था। 

मुख्यमंत्री का कड़ा रख

कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के रातीबड़ थाना क्षेत्र में घटित घटना पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने कहा, 'बेटियों के खिलाफ अपराध करने वाले पूरी मानवता के दुश्मन हैं। मैं उन्हें छोडूंगा नहीं। अपराधों में शामिल सफेदपोशों को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें।' मुख्यमंत्री ने मामले में लिप्त प्यारे मियां को ढूंढ़कर कार्रवाई करने को कहा है। 

संदिग्ध अवस्था में मिली थी छह लड़कियां

ज्ञात हो कि रविवार तड़के भोपाल के रातीबड़ इलाके में पुलिस को छह नाबालिग लड़कियां संदिग्ध अवस्था में घुमती मिली थीं। इन्हें चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर उनसे पूछताछ की गई। नाबालिगों ने बताया कि प्यारे मियां ने इन्हें एक टाउनशिप के फ्लैट में पार्टी के बहाने बुलाया और शराब पिलाने के बाद यौन शोषण किया। मामले में उसकी सहयोगी स्वीटी के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.