अमिताभ बच्चन को कोरोना वैक्सीन ने दिलाई पल्स पोलिया की याद, जताई ये उम्मीद!

फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन की फाइल फोटो

Corona virus vaccination दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान भारत में शुरू हो गया। टीकाकरण अभियान के बाद फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि देश पोलियो की तरह कोविड-19 से भी मुक्त हो जाएगा।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 03:10 PM (IST) Author: Sanjeev Tiwari

नई दिल्ली, जेएनएन। महानायक अमिताभ बच्चन ने कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में सप्ताहांत शुरू हुए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की सराहना करते हुए देश के कोरोना मुक्त होने की उम्मीद जताई है। उन्होंने कहा कि भारत के लोग पोलियो की तरह ही देश से कोरोना वायरस का भी उन्मूलन करेंगे।उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भारत का पोलियो मुक्त होना गर्व का क्षण था। वह भी गर्व का क्षण होगा, जब भारत कोरोना से भी मुक्त होगा। मालूम हो कि अमिताभ बच्चन भारत में पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए यूनिसेफ के सद्भावना दूत रहे हैं। वह 2014 में भारत के पोलियो मुक्त होने तक यूनिसेफ के दूत रहे।वह कोरोना के खिलाफ ऐहतियाती उपायों के प्रति केंद्रीय जागरूकता अभियान का भी हिस्सा रहे हैं तथा उन्होंने कॉलर ट्यून के जरिये संदेश प्रचारित किया। बच्चन टीबी मुक्त भारत, बच्चों के टीकाकरण तथा स्वच्छ भारत अभियानों का भी समर्थन तथा प्रचार किया है।

भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने इस महीने की शुरुआत में सीरम संस्थान द्वारा तैयार ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके 'कोविडशील्ड' और भारत बायोटेक द्वारा विकसित स्वदेशी टीके 'कोवैक्सीन' के आपात स्थिति में सीमित इस्तेमाल को मंजूरी दे दी थी, जिसके बाद टीकाकरण अभियान का रास्ता साफ हो गया था।

 पल्स पोलियो अभियान का थे चेहरा

भारत में पोलियो उन्मूलन अभियान के लिये 'यूनिसेफ' के सद्भावना दूत रहे बच्चन ने ट्वीट किया कि जब भारत पोलियो मुक्त हुआ था तो वह हमारे लिए गौरवशाली क्षण था। ऐसा ही गर्व का क्षण वह होगा जब हम भारत को कोविड-19 मुक्त बनाने में कामयाब होंगे। जय हिंद।

बिग बी को हुआ था कोरोना

बता दें अमिताभ बच्चन पिछले साल जुलाई में खुद भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे, जिसके दो सप्ताह बाद वह संक्रमण से उबरने में कामयाब रहे थे। देश में महामारी फैलने के बाद से ही बच्चन सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के बारे में लिखते रहे हैं।

जुलाई तक 30 करोड़ को टीका लगाने का लक्ष्‍य

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने का कार्य शुरू करने से पहले भी राज्यों से 12 जनवरी तक डाटा अपलोड करने को कहा गया था और उसके बाद ही 16 जनवरी से टीका लगाने का काम शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि देश के अलग-अलग राज्यों के स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या करीब-करीब तीन करोड़ होती है और इनके टीकाकरण कार्य फरवरी तक पूरा किये जाने की उम्मीद है। मंत्री ने कहा कि हम कोई नियत तिथि नहीं बता सकते लेकिन जून-जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है।

देश में कोरोना वायरस की स्थिति

देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,05,57,985 हो गया है। अब तक देशभर में कोविड-19 की वजह से 1 लाख 52 हजार, 274 लोगों की मौत हुई है। इस वक्त देशभर में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 2,08,826 रह गई है। देशभर में सक्रिय मरीज 1.97 फीसद रह गए हैं जो अब तक सबसे कम है। इसके अलावा देशभर में औसत रिकवरी रेट 96.57 फीसद दर्ज की गई है जो अब तक सबसे ज़्यादा है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु दर अब 1.44 फीसद रह गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.