फरीदाबाद की हवा में वायु प्रदूषण का स्‍तर है जानलेवा, दिल्‍ली के कई इलाकों में भी यही हाल

दिल्‍ली-एनसीआर के इलाकों में आज भी स्‍माग का असर दिखाई दे रहा है। फरीदाबाद में एक्‍यूआई का स्‍तर 700 के पार रिकार्ड किया गया है। आज सुप्रीम कोर्ट में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर सुनवाई भी होनी है।

Kamal VermaThu, 02 Dec 2021 09:51 AM (IST)
दिल्‍ली एनसीआर में सुबह छाई स्‍माग की चादर

नई दिल्‍ली (जेएनएन)। दिल्‍ली-एनसीआर के कई इलाकों में गुरुवार की सुबह कोहरे की चादर छाई रही। सुबह 6:30 बजे भी कुछ ही मीटर की दूरी तक देखा जा रहा था। राजधानी और इसके आसपास के इलाकों में वायु प्रदूषण की बात करें तो सुबह 9 बजे एक्‍यूआई का स्‍तर 300-500 के बीच रहा है। इसका अर्थ राजधानी का वायु प्रदूषण बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में रिकार्ड किया गया है।

राजधानी दिल्‍ली के विभिन्‍न इलाकों में वायु प्रदूषण का स्‍तर इस प्रकार रहा है। नजफगढ़ में 338, बवाना में 350, मुंडका में 421 अलीपुर में 385, नरेला में 384, रोहिणी में 405, पंजाबी बाग में 406, पूसा में 478, आरकेपुरम में 426, जहांगीरपुर में 418, आनंद विहार 492, झिलमिल 428, शूटिंग रेंज, श्रीनिवासपुरी में 422, मेजर ध्‍यान चंद नेशनल स्‍टेडियम के पास 412 और पटपड़गंज में 402 रिकार्ड किया गया है।

हरियाणा के फरीदाबाद के औद्योगिक क्षेत्र में एक्‍यूआई का स्‍तर सुबह 9 बजे 749 और सेक्‍टर 30 में 765 रिकार्ड किया गया है, जो गंभीर श्रेणी में आता है। इसी तरह से पलवल में सुबह वायु प्रदूषण का स्‍तर 157 रहा है जो खराब श्रेणी में आता है। गुरुग्राम में 409, मानेसर के सेक्‍टर 2 में 377, बहादुरगढ़ में 286, भिवाड़ी में 257 रिकार्ड किया गया है।

उत्‍तर प्रदेश के इलाकों की बात करें तो यहां के नोएडा के सेक्‍टर 62 में एक्‍यूआई का स्‍तर 535 लोनी में 315, सेक्‍टर 116 में 282, ग्रेटर नोएडा के नालेज पार्क-5 में एक्‍यूआई का स्‍तर 247, नालेज पार्क 3 में ये 273, हापुड़ में 244, बुलंदशहर में 268, बागपत में 249 रहा है।

आपको बता दें कि दिल्‍ली-एनसीआर के राज्‍यों में बढ़ते प्रदूषण पर आज भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। पिछली 3-4 सुनवाई के दौरान कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार जमकर फटकार लगाई थी। कोर्ट लगातार बढ़ते प्रदूषण पर अपनी नाराजगी भी जाहिर कर चुका है।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.