तेलंगाना में आज से 10 दिनों का लाॅकडाउन घोषित, गुजरात के 36 शहरों में नाइट कर्फ्यू 18 मई तक, कर्नाटक में 24 मई तक गरीबों को तीन वक्त मुफ्त भोजन

कर्नाटक में 24 मई तक इंदिरा कैंटीन में गरीबों और प्रवासी मजदूरों को तीन वक्त मुफ्त भोजन।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को राज्य में 10 दिनों के लिए लाॅकडाउन लगाने पर मजबूर होना पड़ा है। पहले उन्होंने यह कहते हुए लाॅकडाउन लगाने से इन्कार कर दिया था कि इससे आर्थिक नुकसान होगा।

Bhupendra SinghWed, 12 May 2021 12:30 AM (IST)

नई दिल्ली, एजेंसियां। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को राज्य में 10 दिनों के लिए लाॅकडाउन लगाने पर मजबूर होना पड़ा है। पहले उन्होंने यह कहते हुए लाॅकडाउन लगाने से इन्कार कर दिया था कि इससे आर्थिक नुकसान होगा। गुजरात ने भी राज्य के 36 शहरों में नाइट कर्फ्यू और अन्य पाबंदियों को 18 मई तक बढ़ाने का एलान किया है। वहीं, कर्नाटक सरकार ने 24 मई तक इंदिरा कैंटीन में गरीबों, मजदूरों और प्रवासी कामगारों को तीन वक्त मुफ्त भोजने देने की घोषणा की है। 

तेलंगाना में 12 मई से 10 दिनों के लिए लाॅकडाउन घोषित 

हैदराबाद में मुख्यमंत्री राव की अध्यक्षता में तेलंगाना कैबिनेट की बैठक में राज्य में 12 मई से 10 दिनों के लिए लाॅकडाउन लगाने का फैसला किया गया। इस दौरान सुबह छह से 10 बजे तक आम लोगों को आवश्यक सामान की खरीद और अन्य जरूरी कामकाज निपटाने की छूट दी गई है। कृषि संबंधी कार्यों को लाॅकडाउन से छूट दी गई है। 20 मई को हालात की समीक्षा के बाद लाॅकडाउन बढ़ाने को लेकर फैसला किया जाएगा।

गुजरात के 36 शहरों में नाइट कर्फ्यू और अन्य पाबंदियां 18 मई तक बढ़ाई गईं

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कोरोना पर गठित कोर ग्रुप के साथ बैठक में 36 शहरों में रात का कर्फ्यू और अन्य सख्त पाबंदियों को 18 मई तक बढ़ाने का फैसला किया। अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और वडोदरा समेत इन शहरों में रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है। दिन के समय में दवा, दूध, सब्जी और किराना की दुकानों को खोलने की ही अनुमति है।

कर्नाटक में गरीबों, मजदूरों और प्रवासी कामगारों को तीन वक्त का भोजन मुफ्त

वहीं, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ट्वीट कर बताया कि लाॅकडाउन जैसी पाबंदियों की वजह से गरीबों, मजदूरों और प्रवासी कामगारों को होने वाली दिक्कतों को देखते हुए उन्हें सरकार द्वारा संचालित इंदिरा कैंटीन में प्रतिदिन तीन वक्त का भोजन मुफ्त देने का फैसला किया गया है। इसमें नाश्ता, दोपहर और रात का खाना शामिल है।

यदि लोगों ने सहयोग नहीं किया तो पुडुचेरी में लाॅकडाउन लगाना हो जाएगा अपरिहार्य

इस बीच, पुडुचेरी की उप राज्यपाल टी. सौंदरराजन ने कहा है कि अगर लोग कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में प्रशासन की मदद नहीं करते हैं तो केंद्र शासित प्रदेश में लाॅकडाउन लगाना अपरिहार्य हो जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.