इस राज्य में 1.5 लाख से ज्यादा सरकारी शिक्षकों की होने वाली है नियुक्ति, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary) ने विधानसभा में कहा है कि राज्य में पंचायत चुनाव पूरा होने के तुरंत बाद शिक्षा विभाग 1.25 लाख स्कूली शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर लेगा।

Nandini DubeyFri, 03 Dec 2021 10:49 AM (IST)
बिहार में जल्द ही 1.5 लाख से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति होने वाली है।

बिहार में जल्द ही 1.5 लाख से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति होने वाली है। राज्य सरकार पंचायत चुनाव के बाद राज्य भर के प्राथमिक और माध्यमिक सरकारी स्कूलों के लिए 1.25 लाख शिक्षकों की भर्ती के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी कर लेगी। इस संबंध में विधानसभा को गुरुवार को इसकी जानकारी दी गई है। बता दें कि 11 चरणों में होने वाले पंचायत चुनाव का आखिरी मतदान 12 दिसंबर को होगा। इसके बाद ही नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा।

इस संबंध में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary) ने विधानसभा में कहा है कि राज्य में पंचायत चुनाव पूरा होने के तुरंत बाद शिक्षा विभाग 1.25 लाख स्कूली शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर लेगा। पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 40,000 शिक्षकों को विभाग द्वारा पहले ही नियुक्त किया जा चुका है।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य की प्रत्येक पंचायत में एक वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खोलना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि, प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी नहीं होगी। इससे पहले RJD विधायक ललित कुमार यादव ने चर्चा में भाग लेते हुए कहा था कि, 'नीति आयोग की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, तथ्यों और सबूतों के साथ नीतीश कुमार सरकार की विफलता को उजागर किया है। रिपोर्ट ने बिहार को शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वास्थ्य के मामले में अन्य राज्यों की तुलना में सबसे नीचे रखा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, RJD विधायक ललित कुमार यादव ने कहा, "शिक्षा विभाग को अनुदान की मांग को मंजूरी देने की जरूरत नहीं है। मंत्री को नीति आयोग के निष्कर्षों पर अपना जवाब देना चाहिए। वहीं एक अन्य RJD विधायक भूदेव चौधरी ने आश्चर्य जताया कि सरकार नीति आयोग की रिपोर्ट पर चुप क्यों है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.