NDA की परीक्षा में बस कुछ दिन बाकी, फाइनल तैयारी में काम आएंगे ये टिप्स

नई दिल्ली [सतेंद्र कुमार]। यूपीएससी द्वारा एनडीए परीक्षा आगामी 17 नवंबर को आयोजित की जाएगी। सेना, नौसेना और वायुसेना में कम उम्र में ऑफिसर पदों पर भर्ती के लिए होने वाली इस परीक्षा के लिए अब कुछ ही दिन बाकी हैं। पिछले कुछ सालों से युवाओं के बीच इस एग्जाम को लेकर लगातार बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए आपको अपनी तैयारियों को और ज्यादा मुकम्मल और अचूक बनाने की जरूरत है। आइए जानते हैं, अंतिम दौर में तैयारी के दौरान ध्यान रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में...

ध्यान रखने योग्य बातें:

1. एनडीए में पहला पेपर मैथ्स का है। इस परीक्षा में यही पेपर सबसे कठिन भी माना जाता है। इस पहले पेपर में कुल 120 प्रश्न करने होंगे, जिसमें से आपका 35 से 40 प्रश्न सौ फीसदी सही होना चाहिए यानी इसमें से कोई भी प्रश्न गलत नहीं होने चाहिए, अन्यथा आपके सही माक्र्स में से एक तिहाई अंक कट जाएंगे और ऐसा होने से आपका रिजल्ट भी रुक सकता है। इसलिए एकुरेसी पर आपको खास ध्यान देना होगा। इस पेपर में 300 अंकों में से न्यूनतम 90 अंक हासिल करना सभी के लिए आवश्यक है।

2. एग्जाम के लिए अभी बचे हुए समय में मैथ्स के कुछ ही टॉपिक्स का रिवीजन करें, जैसे कि सेट, रिलेशन ऐंड फंक्शन से जुड़े टॉपिक, इसमें से करीब 8 से 10 प्रश्न आते हैं। इसी तरह, कॉम्प्लेक्स नंबर टॉपिक से 5 से 7 प्रश्न, प्रॉबेबिलिटी से 7 से 8 प्रश्न, स्टैटिस्टिक्स से 7 से 8 प्रश्न, परम्यूटेशन ऐंड कॉम्बिनेशन से 4 से 5 प्रश्न बीते वर्षों के प्रश्नपत्रों में जरूर पूछे गए हैं। इन सभी टॉपिक्स की एक सप्ताह में अच्छी तरह से प्रैक्टिस हो की जा सकती है। इसके बाद बाकी समय में अन्य संभावित टॉपिक्स पर भी एक बार नजर डाल लें।

3. यदि हो सके तो आरएस अग्रवाल की एनसीईआरटी की एग्जाम्प्लर बुक भी एक बार प्रैक्टिस कर लें। इसकी प्रैक्टिस के दौरान मैथ्स के 120 प्रश्नों में से कम से कम 40 से 45 प्रश्न सौ फीसदी एकुरेसी के साथ हल करने की कोशिश करें। यदि ऐसा कर ले जाते हैं, तो आपका एनडीए का पहला पेपर आसानी से क्रैक हो जाएगा।

4. दूसरा पेपर जनरल एबिलिटी टेस्ट का होता है। इसे जीएटी पेपर भी कहते हैं। यह 600 अंकों का पेपर है। इसमें ए सेक्शन के अंतर्गत इंग्लिश विषय से संबंधित 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह सेक्शन सभी के लिए क्वालिफाई करना अनिवार्य है यानी 50 प्रश्नों में से करीब 15 से 20 प्रश्न सौ फीसदी एकुरेसी के साथ आपको हल करने होंगे, तभी इसे क्वालिफाई कर सकते हैं। इंग्लिश के इस सेक्शन के कुछ टॉपिक्स को अच्छी तरह तैयार कर लें, जैसे कि पैसेज, क्लोज टेस्ट, सेंटेंस रिअरेंजमेंट, वन वर्ड सब्सिट्यूशन, ग्रामर, एंटॉनिम, सिनॉनिम, फ्रेजल वर्ब, इडियम ऐंड फ्रेजेज इत्यादि। एग्जाम तक इन टॉपिक्स को बहुत आसानी से तैयार किया जा सकता है।

5. दूसरे पेपर के सेक्शन बी के अंतर्गत 11वीं तथा 12वीं कक्षा के विषयों के अनुसार सामान्य ज्ञान का रिवीजन करें। यदि साइंस के स्टूडेंट हैं, तो आप फिजिक्स, बायोलॉजी, केमिस्ट्री तथा करेंट अफेयर्स को तैयार कर लें। जब समय मिले, तब हिस्ट्री, पॉलिटी, ज्योग्राफी तथा इकोनॉमिक्स विषयों को देखें।

6. पिछले कुछ वर्षों के प्रश्नपत्रों में से दो सेट आप रोजाना हल करें। प्रश्नों की प्रकृति को गहराई से समझकर उसे याद करने की कोशिश भी करें, क्योंकि उसी कॉन्सेप्ट के आधार पर पेपर में बहुत से प्रश्न दोबारा पूछे जाते हैं। याद रखें कि प्रत्येक पेपर और सेक्शन में न्यूनतम 30 प्रतिशत अंक हासिल करके ही परीक्षा पास की जा सकती है।

(लेखक दिल्ली स्थित तारा इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर हैं।)

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.